देवरिया: जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में भाजपा की राह में बागी ही रोड़ा बनेंगे। कई सीटों पर बागी मजबूत स्थिति में बताए जा रहे हैं। फिलहाल उन्हें मनाने की तैयारी है। इसके लिए रणनीति बनाने में पार्टी के नेता जुट गए हैं।

भाजपा ने रणनीति के तहत अधिकतर सीटों पर नए चेहरों पर भरोसा जताया है। योजनाबद्ध तरीके से चुनाव मैदान में प्रत्याशियों को उतारा है। कई प्रत्याशी टिकट पाकर उत्साहित नजर आ रहे हैं। उन्हें उम्मीद नहीं थी कि टिकट के लिए उनके नामों की घोषणा हो जाएगी। कई दावेदार अपनी टिकट पक्की मानकर दिनरात प्रचार में जुटे थे। बुधवार की रात जब सूची जारी की गई तो नाम नहीं देखकर मायूस हो गए। हालांकि सूची जारी होने से पहले ही नामांकन पत्र खरीदकर चुनाव प्रचार में डटे हैं। उधर कई दिग्गजों के पाल्य, जो महीनों से टिकट के लिए ताल ठोंक रहे थे, वे लोग टिकट नहीं मिलने से मायूस हैं, अब उनकी नई रणनीति क्या होगी, यह अगले दो दिनों बाद और साफ हो जाएगा। अध्यक्ष की कुर्सी के लिए कई मजबूत चेहरे

भाजपा ने कई पुराने चेहरों पर भी दांव आजमाया है। उन चेहरों के सहारे जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होने का सपना संजोया है। जिला पंचायत सदस्य की सीट पर जीत के लिए मेहनत कर रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि यदि सदस्य की सीट भाजपा की झोली में डाल देते हैं तो जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए पार्टी उन्हें उम्मीदवार बनाएगी। लेकिन अभी तक यह उन लोगों का अपना विश्वास है, अंतिम फैसला तो पार्टी नेतृत्व का ही होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021