देवरिया: दुर्गा पूजा को लेकर सोमवार को जिला चिकित्सालय में मरीज काफी कम संख्या में पहुंचे। जिससे पूरे दिन डाक्टर मरीजों के इंतजार में बैठे रहे। दोपहर बाद से ही अस्पताल में सन्नाटा पसरा रहा। डाक्टरों ने आपस में बातें कर समय व्यतीत किया।

अक्सर रविवार को अस्पताल बंद रहने के बाद सोमवार को बड़ी संख्या में जिला अस्पताल में मरीज पहुंचते हैं। सोमवार को हाल यह रहता है कि अस्पताल में पैर रखने तक की जगह नहीं रहती है। लेकिन यहां का नजारा बदला बदला रहा। सुबह तकरीबन डेढ़ से दो सौ मरीज पहुंचे जिन्हें डाक्टरों ने एक से दो घंटे में ही जांच कर छुट्टी दे दी। उसके बाद पूरा दिन डाक्टर खाली बैठे रहे। डाक्टरों में डा. डीके सिंह, डा. एचके मिश्र, डा.आरके श्रीवास्तव, डा. प्रतीक केजरीवाल, डा. आदि डाक्टर अपने कक्ष में बैठे रहे। जब ओपीडी में कोई मरीज नहीं पहुंचा तो सभी डाक्टर सीएमएस कक्ष में जाकर बैठ गए और वहां आपस में बातचीत कर समय गुजारे। हालांकि इमरजेंसी में मरीजों की भीड़ रही। सीएमएस डा. आनंद मोहन वर्मा ने कहा कि दुर्गा पूजा के कारण मरीजों कम आए। जो मरीज ओपीडी में पहुंचे उनका का इलाज डाक्टरों ने किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस