देवरिया : अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की बैठक सोमवार को जिला कार्यालय पर हुई, जिसमें प्रधान सुनील यादव के हत्यारों की गिरफ्तारी तथा उनकी पत्नी को आर्थिक मदद के साथ सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की गई।

बैठक में जिलाध्यक्ष गीता पांडेय ने कहा कि जिले की कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। आमजन का जीवन सुरक्षित नहीं है। प्रधान की हत्या और शहर के व्यापारी पर जानलेवा हमला कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। प्रधान की हत्या थानाध्यक्ष लार के निरंकुशता के चलते हुई है। अगर समय रहते थानाध्यक्ष द्वारा कार्रवाई की गई होती तो आज प्रधान की हत्या नहीं होती। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अपराधियों का वर्चस्व है। अपराधी खुलेआम घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। जिले की कानून की व्यवस्था को दुरुस्त कर लोगों को सुरक्षा की जाय। सीमा यादव पत्नी सुनील यादव की पत्नी को आर्थिक मदद के साथ परिवार की सुरक्षा की गारंटी दी जाय। इस दौरान रीना, सीता, सौमिता, सविता, शोभा, नम्रता, रेखा, रानी, निर्मला, संजू, सरिता, जानकी आदि मौजूद रहीं।

Posted By: Jagran