देवरिया: सलेमपुर नगर के हरैया वार्ड में हो रहे नाला निर्माण में अनियमितता की शिकायत मिलने पर उप जिलाधिकारी व सीओ मौके पर पहुंचे और मानक के अनुसार कार्य नहीं होने पर कर्मचारी को फटकार लगाते हुए कार्य बंद करा दिया।

नगर के हरैया में बन रहे मुख्य नाला निर्माण में मानक की धज्जियां उड़ाते हुए निर्माण कार्य किये जाने पर भाजपा पिछड़ा प्रकोष्ठ के सदस्य त्रिपुणायक विश्वकर्मा ने एसडीएम को पत्र देकर नाला निर्माण के जांच की मांग की। मामला को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ओमप्रकाश बरनवाल व सीओ कपिल मुनि सिंह ने रविवार को मौके पर पहुंचे। जहां नाला का जायजा लिया और ठीकेदार द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्य में अनियमितता को देखकर ठीकेदार को फटकार लगाते हुए निर्माण कार्य बंद करा दिया। विभाग के जेई से इसकी जांच कर रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया।

उपजिलाधिकारी ने बताया कि यह नाला एक ही पार्ट में बनना है। इसे चार पार्ट में बांटकर कमीशन के चक्कर मे चार लोगों को दे दिया गया है। करीब 20 लाख की लागत से नाला का निर्माण कराया जा रहा है। जो कि नगर पंचायत ने छोटे छोटे भाग में कर के चार ठीकेदारों को चार लाख 99 हजार के हिसाब से बांट दी है। यह इसलिए किया गया है कि बिना टेंडर कराए ही निर्माण कार्य हो जाय और अनियमितता का खेल किसी को पता भी न चल सके। उप जिलाधिकारी ने बताया कि खराब ईंट और सफेद बालू से घटिया निर्माण कार्य कराया जा रहा था। इसको बंद कर गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Jagran