देवरिया: बरसात में नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों को जलभराव से बचाने के लिए जिले के 26 प्राकृतिक नालों व ड्रेन की सफाई कराई गई। जिस पर 2.78 करोड़ रुपये खर्च किए गए। जिलाधिकारी के निर्देश पर सफाई कार्यों की जांच शुरू हो गई है।

बाढ़ कार्य खंड की तरफ से 260.83 किलोमीटर लंबाई में सफाई कार्य कराए गए। अधिकारियों की टीम ने नालों व ड्रेन के सफाई कार्यों का सत्यापन कार्य शुरू कर दिया है। टीम अपनी रिपोर्ट डीएम को देगी। यह है नालों की कुल लंबाई

सदर विधानसभा क्षेत्र में 17 नाले व ड्रेन स्थित है, जिसमें परसिया 3.8 किमी, बैतालपुर आठ किमी, पड़री 8.4 किमी, सोंदा ताल 2.8 किमी, पिपरादौला कदम 12.2 किमी, मुंडेरा तीन किमी, सकुतई 16.600 किमी, पहाड़पुर 1.720 किमी, बरवा 4.4 किमी, गौरा 2.1 किमी, सिधुआ ताल 3.8 किमी, सरया तीन किमी, हिरंदापुर 2.4 किमी व डुमरी 1.73 किमी (सभी ड्रेन), दोरांची नाला 88 किमी, कुर्ना नाला 58 किमी शामिल हैं। रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र में नकटा 32.400 किमी, बथुआ 20 किमी व मझना नाला 86.4 किमी स्थित है। बरहज विधानसभा क्षेत्र में करौता ताल 5 किमी, हरखौली ताल 13 किमी, बेलडाढ 1.5 किमी, बड़का गांव 2.2 किमी, सलेमपुर विधानसभा क्षेत्र में छितौनी ताल 13 किमी, ताल दौरा 25 किमी (सभी ड्रेन) स्थित हैं। अधिकारियों की टीम सत्यापन कार्य में जुटी

सदर क्षेत्र के नालों व ड्रेन के सफाई कार्य का सत्यापन की जिम्मेदारी एसडीएम सदर सौरभ सिंह, लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड के सहायक अभियंता अख्तार अब्बास को मिली है। रुद्रपुर क्षेत्र के नालों के सफाई कार्य का सत्यापन एसडीएम रुद्रपुर संजीव उपाध्याय व लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता बीबी सिंह, बरहज क्षेत्र के नालों के सफाई कार्य का सत्यापन एसडीएम बरहज संजीव यादव व लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड के सहायक अभियंता मनीष कुमार कर रहे हैं। सलेमपुर के नालों का सत्यापन एसडीएम ओमप्रकाश व लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता बीबी सिंह कर रहे हैं।

Edited By: Jagran