सलेमपुर, देवरिया: डा. हवलदार अंसारी ने कहा कि कोरोना एक वैश्विक महामारी जरूर है लेकिन व्यायाम, पौष्टिक आहार और दृढ़ इच्छा शक्ति से इस बीमारी को मात दे सकते हैं। संक्रमण के समय हौसला दवा का काम करेगा।

उन्होंने कहा कि नियमित प्राणायाम के साथ ही साथ मन की इच्छा शक्ति को भी मजबूत करें, जिससे मन में नकारात्मक विचार न आए। अपनी दिनचर्या को भी नियमित रखें। समय से ब्रश करने के बाद तुलसी, अजवायन, अदरक, गुड़ इत्यादि से बने काढ़े का सेवन करे जो आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करता है। हल्दी और दूध के सेवन से भी इम्युनिटी को मजबूत किया जा सकता है। बहुत जरूरी होने पर ही दवाइयों का सेवन करें। भोजन में अधिक से अधिक हरी सब्जियों का प्रयोग करे। अदरक, प्याज, लहसुन आदि का सेवन करते रहे। पानी की कमी नहीं होने दे। सुबह गुनगुने पानी का सेवन करें। ठंडे पेय पदार्थ और मैदे आदि से बने सामान खाने से परहेज करें। गले में दिक्कत होने पर गर्म पानी का भांप ले। डाक्टर की सलाह के बाद ही किसी भी दवा का सेवन करें। नकारात्मक विचारों को मन में न आने दें। इंटरनेट मीडिया से दूर रहें। इन सभी छोटी-छोटी चीजों का पालन करने से कोरोना आपसे दूर रहेगा।

--

घर में रह योग कर जीत ली जंग

करीब डेढ़ माह पूर्व हल्का बुखार आया। पहले निजी चिकित्सक से दवा ली, लेकिन बुखार कम नहीं हुआ। खांसी व जुकाम भी बढ़ने लगा। इसके बाद चिकित्सक की सलाह पर उपचार शुरू किया। अपना कमरा अलग कर लिया और घरेलू उपचार के साथ नियमित योगाभ्यास शुरू किया। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए हल्दीयुक्त दूध, खट्टे फलों का सेवन किया। सुबह नीबू व गर्म पानी के साथ काढ़ा लेता रहा। कोरोना को हराने के लिए हौसला नहीं टूटना चाहिए। नकारात्मक चीजों को मन में नहीं लाना चाहिए। इसका सीधा असर इम्युनिटी पर पड़ता है।

दो सप्ताह के बाद दोबारा जांच हुई तो रिपोर्ट निगेटिव आ गई। मैंने घर में रहकर कोरोना को मात दी है।

विनय तिवारी, भरतनाट्यम कलाकार, भरौली वार्ड, सलेमपुर

Edited By: Jagran