देवरिया: कानपुर के व्यवसायी मनीष की दो दिन पहले गोरखपुर में हुई मौत को लेकर संपूर्ण वैश्य सेना कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर मांगों से संबंधित पत्रक जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन को सौंपा। जिलाध्यक्ष रामप्रवेश गुप्ता ने कहा कि गोरखपुर घूमने आए मनीष गुप्ता की पुलिस वालों ने हत्या कर दी। पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी करने के साथ ही उनकी बर्खास्तगी होनी चाहिए। इसके अलावा परिवार को पचास लाख की आर्थिक सहायता व सरकारी नौकरी दी जानी चाहिए। इस दौरान कुमार करन, प्रदीप गुप्ता, दिव्य प्रकाश वर्मा, कौशल किशोर वर्मा, हनुमान जायसवाल, राजेश मद्धेशिया, राजेश गुप्ता, तारकेश्वर गुप्ता, मंटू बाबू जायसवाल, प्रिस अग्रवाल, सौरभ गुप्ता, कृष्णा जायसवाल, रवि वर्मा, ज्वाला प्रसाद प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

सपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

कानपुर के व्यवसाई मनीष गुप्ता की गोरखपुर में संदिग्ध मौत के विरोध में सपा कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को सयुस के प्रदेश सचिव धर्मवीर गुप्ता के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। आंदोलित कार्यकर्ता बांस देवरिया स्थित सपा कार्यालय से प्रदर्शन करते हुए कलक्ट्रेट पहुंचे और तीन सूत्रीय मांगों का पत्र जिलाधिकारी को सौंपा।

आंदोलनकारियों ने मांग किया है कि व्यवसाई मनीष गुप्ता की हत्या में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया जाए तथा उनकी तत्काल गिरफ्तारी हो। उनके स्वजन को 50 लाख रुपये मुआवजा, उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी दी जाए। इस मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। कहा कि मांगों को पूरा नहीं किया गया तो सपा कार्यकर्ता व सयुस कार्यकर्ता आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। वक्ताओं ने कहा कि भाजपा की सरकार में व्यवसायी, किसान, गरीब, महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। गोरखपुर का विकास देखने आए व्यवसायियों की हत्या किसी अपराधी ने नहीं पुलिसकर्मियों ने की है। इस घटना की जितनी निदा की जाए कम है। भाजपा सरकार में पुलिस निरीह लोगों की हत्या कर रही है। प्रदर्शन में देवेंद्र भारती, तेजप्रताप, अजय यादव, अशोक राजभर, जावेद अंसारी, हरिकेश गुप्ता, विजय यादव, अर्जुन यादव, सुनील यादव, न्यूटन यादव आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran