देवरिया: जकार्ता एशियन गेम्स में प्रतिभाग करने के बाद जिले में लौटी हैंडबाल की अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी मंजुला पाठक को जिलाधिकारी अमित किशोर ने मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय के धनवंतरि सभागार में सोमवार को स्मृति चिह्न व बुके देकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी ने जनपद में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाने की घोषणा की।

जिलाधिकारी ने कहा कि आज बेटियां किसी भी मामले में बेटों से कम नहीं हैं। वह बेटों से कदम से कदम मिला कर ही नहीं चल रहीं उनसे काफी आगे भी हैं। मंजुला हैंडबाल के क्षेत्र में ही देवरिया का नाम रोशन कर रही हैं। खेल का क्षेत्र हो या कोई भी क्षेत्र हर क्षेत्र में बेटियों को आगे बढ़ाने में जो भी प्रशासनिक मदद की जा सकती है की जाएगी। जिला क्रीड़ा अधिकारी के पांडेय ने कहा कि मंजुला पाठक काफी होनहार खिलाड़ी है। इन्होंने वर्ष 2016 में साउथ एशियन गेम गुहाटी में गोल्ड मेडल हासिल किया। वर्ष 2017 में अंतर्राष्ट्रीय हैंडबाल प्रतियोगिता फैसलाबाद पाकिस्तान में भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तान रही और रजत पदक हासिल की। प्रदेश सरकार ने रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार से भी मंजुला वर्ष 2017 में सम्मानित हुई। जकार्ता ऐशियन गेम में प्रतिभाग की और बेस्ट आठ में स्थान बनाने में कामयाब रही। अन्य खिलाड़ियों को भी मंजुला से प्रेरणा लेनी चाहिए। यहां मुख्य रूप से मंजुला के माता पिता विनोद कुमार पाठक, मंजु पाठक के अलावा विपिन प्रसाद, फुटबाल कोच क्रांति देव यादव, वालीबाल कोच विक्रम ¨सह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप