देवरिया: मकर संक्रांति के अवसर पर गुरुवार को बरहज व भागलपुर में सरयू नदी तट पर श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाकर अन्न व वस्त्र दान किया। जगह-जगह सहभोज का भी आयोजन किया गया। घाटों पर सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए थे।

बरहज संवाददाता के अनुसार सरयू नदी में स्नान करने के लिए बुधवार की शाम से ही लोगों का आना शुरू हो गया। भोर से ही सरयू तट पर स्नान शुरू हुआ। नदी तट पर श्रद्धालुओं के जयघोष से नगर गूंज उठा। स्नान का क्रम दोपहर बाद तक चलता रहा। गौरा घाट, तिवारीपुर, कपरवार संगम तट, पैना सतीहड़ा घाट पर लोगों ने पुण्य की डुबकी लगाई। घाटों पर सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए थे। नगर में मेले के कारण भारी वाहनों का प्रवेश शाम तक रोक दिया गया था। लोगों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। ताकि किसी को कोई असुविधा न हो।

भागलपुर संवाददाता के अनुसार भागलपुर स्थित सरयू नदी में भी लोगों ने भोर से ही स्नान शुरू कर दिया, जो दोपहर बाद तक स्नान चलता रहा। लोगों ने स्नान करने के बाद दान दिया। रामपुर कारखाना संवाददाता के अनुसार कुशहरी, पटनवा पुल समेत विभिन्न जगहों पर भी लोगों ने मकर संक्रांति पर स्नान किया और दान दिया।

प्रमुख मंदिरों में पूजन अर्चन के लिए रही भीड़

देवरिया : शहर के तिरुपति बालाजी मंदिर में जगजद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी राजनाराणाचार्य के संयोजन में मकर संक्रांति मनाई गई। मनोकामना पूर्ण हनुमान मंदिर, दुग्धेश्वर नाथ शिव मंदिर रुद्रपुर, महेन्द्रा नाथ शिव मंदिर महेन, दीर्घेश्वर नाथ शिव मंदिर मझौलीराज में भी लोगों ने पूजन अर्चन किया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप