देवरिया: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का का हेलीकाप्टर जैसे ही आसमान में दिखा भाजपा नेताओं के कदम स्वागत के लिए बने हेलीपैड के समीप तोरण द्वार की तरफ बढ़ने लगे। हेलीकाप्टर से मुख्यमंत्री के उतरने के पहले ही कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, मंत्री जयप्रकाश निषाद, जिले के प्रभारी मंत्री श्री राम चौहान, सांसद डा रमापति राम त्रिपाठी, सदर विधायक डॉक्टर सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी, सलेमपुर के विधायक काली प्रसाद ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने दूर से ही नेताओं को प्रणाम किया, कुशलक्षेम पूछा और मुस्कुराते हुए आगे बढ़ गए।

आगे कतार में खड़े जिले के वरिष्ठ नेताओं से भी दूर से ही कुशलछेम पूछते हुए कहा आप सभी लोग ठीक हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री वाहन में बैठे और मेडिकल कालेज के निरीक्षण के लिए चल दिये। यहां मुख्य रूप से नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह, विधायक प्रतिनिधि संजीव द्विवेदी, अंतर्यामी सिंह, विजय कुमार दुबे, जीतेंद्र प्रताप राव, महेंद्र यादव, मारकंडे शाही, राजेंद्र मल्ल, अजय कुमार दुबे, अजय उपाध्याय, प्रमोद सिंह, छट्ठे लाल निगम, नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह, भूपेंद्र सिंह, अमित सिंह बबलू, पवन मिश्र समेत बड़ी संख्या में भाजपा नेता मौजूद रहे। मेडिकल कालेज में सांसद रविद्र कुशवाहा मौजूद रहे।

-

सुरक्षा के रहे व्यापक इंतजाम, भाजपा नेताओं पर भी दिखाई सख्ती

मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। पुलिस लाइन के चारो तरफ पुलिस का पहरा था। गेट पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। फ्लीट आने के पूर्व सीओ श्रीयश त्रिपाठी, टीएसआई रामवृक्ष यादव मोर्चा संभाले रहे। इसके अलावा गेट पर एक सीओ, दो इंस्पेक्टर व पीएसी के जवान तैनात रहे। हेलीपैड पर 26 वाहिनी पीएसी गोरखपुर के जवान सुरक्षा में लगे रहे। गेट पर मंत्री, सांसद, विधायक के अलावा कोई भी भाजपा नेता प्रवेश करने का प्रयास करता तो उसे पुलिस रोक कर पहले लिस्ट से नाम मिलाती और नाम रहने पर ही अंदर जाने की अनुमति देती।

---

बैरिकेडिग से हुई परेशानी, जिला अस्पताल जाने से भी रोका शहर में दिन में 11 बजे के बाद पुलिस ने अपना तेवर दिखाना शुरू कर दिया। दिन में 12 बजे शहर के मुख्यमार्ग पर पर बस स्टेशन, भटवलिया चौराहा, डाकबंगला रोड जाने वाली सड़क को बैरिकेडिग लगाकर अवरुद्ध कर दिया गया। यहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया। पुलिस लाइन, स्टेडियम व जिला अस्पताल तीनों स्थानों पर पुलिस ने लोगों को जाने से रोका। जिला अस्पताल में वे लोग ही गए जो एंबुलेंस से आए। अपने दोपहिया व चारपहिया वाहनों से आए लोगों को पुलिस ने जाने से रोक दिया। ऐसे में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। सिविल लाइंस रोड, रुद्रपुर रोड, बस स्टेशन, भटवलिया चौराहा, मेडिकल कालेज रोड चौराहे पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रही।

---

दो एसएसपी, छह सीओ समेत 684 ने संभाली कमान

मुख्यमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था को सख्त बनाने के लिए दो एसएसपी के साथ ही छह सीओ, 24 इंसपेक्टर, 48 दरोगा समेत कुल 684 पुलिसकर्मी सुरक्षा की कमान संभाले रहे। हेलीपैड से लेकर मेडिकल कालेज तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा रहा। पुलिस ने काफी सख्ती से अपनी ड्यटी की। ग्रामीण क्षेत्र से आए लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

Edited By: Jagran