जागरण संवाददाता, देवरिया: जिले में कोरोना का संक्रमण 48 घंटे से रुका हुआ है। दो दिन से एक भी रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव नहीं होने से स्वास्थ्य विभाग काफी राहत महसूस कर रहा है। संभावित लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग अपनी तैयारियों में लगा है लेकिन मौजूदा समय में जो लापरवाही कोविड नियमों को लेकर आमजन द्वारा देखी जा रही है। उससे यही प्रतीत होता है कि कोरोना को लेकर खतरा कभी भी बढ़ सकता है। मेडिकल कालेज से संबद्ध जिला अस्पताल में लोग भीड़ के बीच धक्कामुक्की करते प्रतिदिन देखे जा रहे हैं। गुरुवार को आई कोरोना जांच रिपोर्ट में 2029 की रिपोर्ट निगेटिव व एक भी रिपोर्ट पाजिटिव नहीं है। कुल संक्रमितों की संख्या 20199 है। अभी तक 19963 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना से अभी तक 218 की मौत हो चुकी है। सक्रिय केस की संख्या 18 हो गई। चौबीस घंटे में 1980 लोगों की सैंपलिग की गई। अभी तक कुल 752839 लोगों की सैपलिग कर जांच की जा चुकी है। होम आइसोलेशन में 15 संक्रमित मरीज भर्ती हैं।

सीएमओ डा. आलोक पांडेय ने कहा कि आज एक भी रिपोर्ट पाजिटिव नहीं आई है। स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ ही कोविड नियमों के पालन के लिए बताया जा रहा है। कोरोना संक्रमण की रफ्तार जिले में धीरे-धीरे कम हो रही है। जांच के नाम पर की जा रही खानापूरी देवरिया: मेडिकल कालेज से संबद्ध जिला अस्पताल में कोरोना जांच के नाम पर खानापूरी की जा रही है। एंटीजन टेस्ट कराने के लिए दूर-दूर से आए लोग अस्पताल में घूम रहे हैं लेकिन उनका टेस्ट नहीं हो रहा है। अस्पताल की ओपीडी दो बजे बंद होने के साथ ही कोविड की जांच भी बंद कर दी जा रही है।