देवरिया, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के चार वर्ष पूरे होने पर जिले भर में शुक्रवार को आयुष्मान भारत दिवस पर उत्सव मनाया गया। सीएमओ कार्यालय के धन्वंतरि सभागार में शुक्रवार को कार्यक्रम आयोजित किया गया। यहां मुख्य अतिथि सदर सांसद डा. रामापति राम त्रिपाठी ने योजना के दस पात्रों को आयुष्मान कार्ड सौंपा। इस मौके पर बेहतर कार्य करने वाले जिले के पांच स्वास्थ्यकर्मी भी सम्मानित किए गए।

सांसद ने जिले में खुलने वाले नए हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों का भी उद्घाटन किया। कहा कि आयुष्मान कार्ड रहने पर पात्र लाभार्थी परिवार को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक के निश्शुल्क उपचार की सुविधा निर्धारित अस्पतालों में मिलती है। इसलिए अपना आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाए और योजना का लाभ उठाएं। यहां बेहतर कार्य करने वाले पांच अस्पतालों को सम्मानित किया गया। जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि जिले में 30 सितंबर तक आयुष्मान पखवाड़ा चलेगा। इस दौरान पंचायत सहायक, कोटेदार और आशा कार्यकर्ता से संपर्क कर निश्शुल्क आयुष्मान कार्ड बनवाए जा सकते हैं।

सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 की सूची के जरिए चयनित लाभार्थियों के साथ सभी अंत्योदय कार्ड धारक परिवार के सदस्य और श्रम विभाग की ओर से चयनित श्रम कार्ड वाले भवन निर्माण से जुड़े श्रमिक ही योजना के लाभार्थी हैं। इन सभी लाभार्थियों का कार्ड बनाया जाना है। योजना का लाभ अस्पताल में भर्ती होने के बाद ही मिलता है। योजना के तहत किडनी रोग, घुटना प्रत्यारोपण, कैंसर, ह्रदय रोग, मोतियाबिंद और कई प्रकार की जटिल सर्जरी की सुविधा मरीज के भर्ती होने के बाद निश्शुल्क दी जा रही है।

योजना के तहत जिले में अब तक 22 हजार लोगों का इलाज हुआ है सीडीओ रविन्द्र कुमार ने कहा कि यह योजना सीधे गरीबों को लाभान्वित करने वाली है। निजी अस्पतालों से अपील की कि वह ज्यादा से ज्यादा आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को लाभ पहुंचाएं। पात्रता की जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 14555 डायल कर सकते हैं। इस दौरान योजना की लाभार्थी गामा देवी, सिमरन, संगीता कुमारी, मेराज अहमद, बादामी देवी, किरन देवी मैरुनिशा, लाची देवी, अशोक सोनकर को आयुष्मान कार्ड दिया गया ।

इस अवसर पर सीएमओ डा. राजेश झा, नोडल अधिकारी सुरेन्द्र चौधरी, एसीएमओ राजेंद्र प्रसाद, डा. बीपी सिंह, डा. राकेश पांडेय, आशीष सिंह, चंद्रप्रकाश त्रिपाठी, डीसीपीएम राजेश गुप्ता, विश्वनाथ मल्ल, हेम नारायण पांडेय आदि मौजूद रहे।

Edited By: Pragati Chand