देवरिया : दीवानी न्यायालय परिसर में डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सुभाष चंद्र राव की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें मेजर आदित्य कुमार व सेना के अन्य अधिकारियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई पर सर्वोच्च न्यायालय के रोक की पहल का स्वागत किया गया।

बैठक को संबोधित करते हुए श्री राव ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से मेजर व अन्य अधिकारियों को राहत मिली, उससे अधिवक्ताओं में प्रसन्नता है। अधिवक्ता सदैव से न्याय प्रिय रहा है, यदि देश में संविधान की मर्यादा को थोड़ी भी आंच लगेगी तो जनता न तो सुरक्षित रहेगी और न ही हमारे जवानों का आन-बान चमकदार होगा। सेना के जवानों की शहादत पर अधिवक्ता ने दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा कि हमें सैन्य कार्रवाई पर प्रश्नचिह्न नहीं लगाना चाहिए। अध्यक्ष विद्या सागर मिश्र ने कहा कि सेना के लोग जिन विषम परिस्थिति में देश की सीमा की रक्षा करते हैं। सेना के लोगों पर सीमा व देश की रक्षा के दौरान उठाए गए कदम के खिलाफ मुकदमा होना ही एक शर्मनाक बात है। बैठक को राधाकृष्ण शुक्ल, सुरेंद्र राव, मोहम्मद आमीर, राधेश्याम पाठक, श्याम नारायण तिवारी, जटाशंकर ¨सह, ब्रजभूषण यादव, बालमुकुंद ¨सह, केसी मिश्र, प्रमोद यादव, आनंद राय, सुभाष मिश्र, जन्मेजय मणि, सत्य नारायण यादव ने प्रमुख रूप से संबोधित किया।

By Jagran