संवाद सहयोगी, मानिकपुर (चित्रकूट) : गंगा-कावेरी एक्सप्रेस ट्रेन डकैती कांड में सोमवार पूरी रात के साथ मंगलवार दिन भर एसटीएफ, आरपीएफ-जीआरपी व स्थानीय पुलिस टीमों ने छापेमारी की। कुछ टीमों ने मध्यप्रदेश के मैहर, कटनी व जबलपुर तक धावा बोला। स्थानीय स्तर पर मानिकपुर, पनहाई, डभौरा, बरगढ़ में भी टीमें पहुंचीं। क्राइम ब्रांच व एसटीएफ के जाल में कुछ शातिर फंसे हैं। इनसे राजफाश कराने की कोशिशें तेज की गई हैं। जल्द पर्दाफाश की संभावनाएं हैं।

आइजी रेलवे इलाहाबाद बीआर मीणा, एसपी रेलवे झांसी क्षेत्र पीके मिश्रा, सीओ धर्मेंद्र कुमार के साथ चित्रकूट एसपी मनोज कुमार झा के निर्देशन में ट्रेन डकैती कांड के पर्दाफाश को लेकर लगाई गई छह टीमें अब निष्कर्ष के करीब पहुंचने वाली हैं। सोमवार पूरी रात व मंगलवार को हुई छापेमारी कई अहम कड़ी मिली हैं। कामायनी एक्सप्रेस डकैती कांड के शातिर लूलू पटेल का भी सुराग पुलिस को मिल गया है। इसी आधार पर छापेमारी कर उसको दबोचने की तैयारी तेज की गई है। झांसी क्राइम ब्रांच के हरी शरण ¨सह ने अपनी टीम के साथ आधा दर्जन जगहों पर मंगलवार को पड़ताल की। एसपी पीके मिश्रा ने बताया कि जांच टीमों के हाथ अहम सुराग लगे हैं। कड़ियां जोड़ी जा रही हैं। जल्द सच्चाई सामने लाई जाएगी। चित्रकूट एसपी मनोज झा ने बताया कि स्थानीय मानिकपुर व मारकुंडी थानों की पुलिस के साथ सर्विलांस और स्वॉट को भी लगाया गया है। कुछ शातिर हत्थे चढ़ चुके हैं। जांच टीमें पर्दाफाश करने के करीब हैं।

Posted By: Jagran