चित्रकूट, जेएनएन। धार्मिक नगरी चित्रकूट आज गोलियों की तड़तड़ाहट से सहम सी गई। यहां पर आज सुबह महोबा निवासी लोकतंत्र सेनानी के बेटे की हत्या कर दी गई। हत्या की सूचना पर सनसनी फैल गई और एसपी खुद इस मामले की पड़ताल में लगे हैं।

प्रभु श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट में महोबा निवासी के लोकतंत्र सेनानी के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। धर्म नगरी में इस हत्या से काफी सनसनी फैल गई। घटना शिवरामपुर पुलिस चौकी क्षेत्र में झांसी मीरजापुर हाईवे के किनारे हुई।

महोबा के कबरई निवासी 33 वर्षीय विजय पाराशर उर्फ रामू कल अपने लोकतंत्र सेनानी पिता बिंदादीन, मां राम देवी और अपनी किरायेदार सरिता पत्नी मृत्युंजय तिवारी, उसके देवर चिंटू व ननद बबिता के साथ कुंभ स्नान करने प्रयागराज गया था। वहां से रात में पिता बिंदा दीन बस से वापस लौट कर घर आ गये। कर्वी कोतवाली अंतर्गत सीतापुर पुलिस चौकी क्षेत्र में रामघाट के पास वह लक्ष्मी भवन में रुक गए। इसके बाद देर रात विजय भी अपनी सफारी कार से बाकी सभी को लेकर लौटा था। वह मां राम देवी को लक्ष्मी भवन में छोड़ कर महोबा के लिए सभी के साथ निकल पड़ा। इसी दौरान किरायेदार महिला सरिता के पति ने फोन कर बताया कि कुंभ जाते समय उसकी गाड़ी झांसी मीरजापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बेड़ी पुलिया के पास खराब हो गई है। विजय ने मौके पर पहुंच कर उसकी गाड़ी ठीक करवा कर भेज दी। इसके बाद वह वहां पर गोस्वामी तुलसीदास महाविद्यालय के सामने रुक गया।

वहीं पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने हमला कर दिया। बाकी लोग गाड़ी पर सो रहे थे। गोली की आवाज सुनकर बाइक सवारों को भागते देख कर यूपी-100 को सूचना दी। इससे तीर्थ क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। एसपी मनोज कुमार झा ने बताया कि घटना के पीछे प्रेम संबंधों की बात सामने आ रही है। एक आरोपित की पहचान हुई है। जल्द हमलावरों को गिरफ्तार कर सच्चाई सामने लाई जाएगी। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस