जागरण संवाददाता, चित्रकूट : मंदाकिनी पर बनने वाले मकरी पहरा पुल की शुक्रवार की जियो मैपिग की गई। राजकीय सेतु निर्माण निगम के महाप्रबंधक राकेश सिंह ने लोनिवि अधिकारियों के साथ साइट का निरीक्षण किया और मकरी पहरा समेत तीन पुलों का निर्माण शुरू कराया।

विकास खंड कर्वी की ग्राम पंचायत मकरी और पहरा के लोगों के अभी शिवरामपुर से घूम कर आना पड़ता है। जिससे उन्हें कई किलोमीटर लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। सो, क्षेत्रीय विधायक और लोनिवि राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने इन गांवों को सीधे जिला मुख्यालय से जोड़ने के लिए मंदाकिनी नदी पर नया पुल बनाने का प्रस्ताव दिया था। 16 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस पुल का बीचे दिनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ऑनलाइन शिलान्यास किया था। अब उसमें काम भी शुरू होने वाला है। शुक्रवार को जीएम राकेश सिंह, प्रोजेक्ट मैनेजर एसके निरंजन, एई राम सिंह, लोनिवि निर्माण खंड के अधिशाशी अभियंता अरविद कुमार व सेतु निगम के जेई सुंदरलाल ने साइट पर जाकर जीओ मैपिग कराई और झंडी आदि लगाई गई। प्रोजेक्ट मैनेजर ने बताया कि पुल में आठ पिलर होंगे। इसकी लंबाई 213 मीटर और चौड़ाई सात मीटर होगी। पुल का निर्माण 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। बारिश के कारण अभी रास्ता खराब है, इसलिए मैटेरियल व मशीनें पहुंचने में दिक्कत है। जैसे ही बारिश खत्म होती है तो काम तेजी पकड़ लेगा।अभी समतलीकरण व लेबर कालोनी बनाई जा रही है। वाल्मीकि व सखौंहा नदी पुल का भी निर्माण शुरू

उप मुख्यमंत्री ने वाल्मीकि नदी में कलवलिया-तेरा पुल और सखौंहा नदी में चकौर-मंडौर पुल का भी शिलान्यास किया था। सौ मीटर लंबे दोनों पुल का निर्माण भी करीब सात-सात करोड़ रुपये से होना है। जिसके लिए मशीनें और सामग्री पहुंच गई हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप