लखनऊ, जेएनएन। भगवान राम की तपोभूपि चित्रकूट के दो दिवसीय दौरे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने तेवर को दिखा ही दिया। विकास कार्य की समीक्षा के साथ ही अस्पताल का दौरा करने के दौरान नाराज दिख रहे सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सीएमएस व सीएमओ के बाद तीन एसडीएम को चित्रकूट से हटा दिया गया है। इन सभी का दूसरे जिलों में तबादला किया गया है। इनके स्थान पर काम में तेज माने जाने वाले अधिकारियों को तैनाती प्रदान की गई है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद चित्रकूट के अधिकारियों पर गाज गिरी है। करीब 20 घंटे के अपने दौरे में मुख्यमंत्री ने जहां पर कमी देखी, वहां के अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। चित्रकूट में तैनात रहे तीन एसडीएम हटाए गए हैं। सदर और मई तहसील के एसडीएम को हटाया गया है। गाजियाबाद से राजबहादुर, हरदोई से राम प्रकाश तथा बाराबंकी से अभय पाण्डेय को चित्रकूट में तैनाती मिली है। इनको चित्रकूट सदर, मऊ व चित्रकूट में तैनाती मिलेगी। 

सीएमएस व सीएमओ का भी गैर जनपद तबादला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला के अस्पतालों का निरीक्षण किया। इसके बाद खामियां मिलने पर सीएम योगी आदित्यनाथ की गाज मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) पर गिरी है।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को जिला अस्पताल के निरीक्षण के बाद कड़ा रुख दिखाया है। हेलीकॉप्टर पर बैठकर धर्म नगरी से उड़ते ही सीएमएस और सीएमओ पर गाज गिरा दी। दोनों अफसरों का तत्काल प्रभाव से गैर जनपद तबादला कर यहां नये अधिकारियों को तैनाती दी गई है।

मुख्यमंत्री ने जिला अस्पताल निरीक्षण के दौरान ही सीएमओ व जिलाधिकारी से व्यवस्था बेहतर करने को कहा था। उनके यहां से जाते ही लखनऊ से दोनों के तबादले के फरमान आ गया।  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेंद्र सिंह को संयुक्त निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कानपुर मंडल भेजा गया है। उनकी जगह यहां पर बांदा के वरिष्ठ परामर्शदाता जिला चिकित्सालय डॉ विनोद कुमार मुख्य चिकित्साधिकारी चित्रकूट की कुर्सी संभालेंगे। बांदा के वरिष्ठ बालरोग विशेषज्ञ डॉ आरके गुप्ता को मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला अस्पताल कर्वी बनाया गया है। अभी तक यहां तैनात मौजूदा अधीक्षक डॉ एसएन मिश्रा को वरिष्ठ परामर्शदाता बांदा की जिम्मेदारी दी गई है। 

सुबह जिला अस्पताल पहुंचे योगी ने बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने की हिदायत दी थी। कर्वी सोनेपुर रोड स्थित अस्पताल इमरजेंसी के साथ ओपीडी व वार्ड में घूमकर जायजा लिया था। इस दौरान मुख्यमंत्री ने डीएम शेषमणि पांडेय, सीएमओ डॉ राजेंद्र सिंह को बुलाकर गरीब को स्वास्थ्य सेवाएं मिलने में दिक्कत नहीं होने देने की बात कही थी। कुछ मरीजों से बातचीत कर खामियों पर शिकायत दर्ज कराने का हवाला भी दिया था। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप