चित्रकूट, जेएनएन। जिले की सीमा से सटे मध्यप्रदेश के सतना जिला अंतर्गत जानकीकुंड स्थित सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट द्वारा संचालित सद्गुरु पब्लिक स्कूल से अपहृत मासूम जुड़वां बच्चों को तलाशने में एमपी-यूपी पुलिस व एसटीएफ नाकाम साबित हुई। अपहर्ताओं ने दोनों को जंजीरों में बांधकर जिंदा ही बांदा के बबेरू थानाक्षेत्र में औगासी घाट पर यमुना में फेंक दिया। पुलिस ने छह आरोपितों को गिरफ्तार कर शव निकाले। फिरौती के 11.46 लाख रुपये, तमंचे, बाइक व बोलेरो बरामद की है। घटना के विरोध में बाजार बंद कर व्यापारियों, लोगों ने तोडफ़ोड़-पथराव कर हाईवे पर जाम लगा आगजनी की कोशिश की। जवाबी पथराव में एक दर्जन से ज्यादा व्यापारियों व पांच सिपाहियों को चोटें आई हैं। सपा नेता अखिलेश यादव ने इसे कानून व्यवस्था के नाम पर यूपी में जंगलराज की संज्ञा दी है।

अपहरण के बाद कुछ यूं बीते दिन

  • 12 फरवरी : दोपहर 12.30 बजे सद्गुरु पब्लिक स्कूल जानकी कुंड से जुड़वां बच्चों का अपहरण। 
  • 13 फरवरी : खोजबीन का आइजी रीवां ने मोर्चा संभाला व एसआइटी टीम की गई गठित।
  • 14 फरवरी : छापामारी कर पुलिस टीमों ने डेढ़ सौ से ज्यादा संदिग्धों को हिरासत में लेकर की पूछताछ।
  • 15 फरवरी : तीन दिन तक चित्रकूट छिपाए रखने के बाद बच्चों को बाहर ले गए अपहृता।
  • 16 फरवरी : मध्ययप्रदेश के साथ यूपी की एसटीएफ टीमों ने भी संभाली कमान।
  • 19 फरवरी : देर रात को परिवारीजनों ने अपहरणकर्ताओं को 20 लाख रुपये फिरौती पहुंचाई।
  • 21 फरवरी : जुड़वां बच्चों को जंजीर से बांधकर बांदा के औगासी में यमुना नदी में फेंका गया।
  • 23 फरवरी : हत्या के बाद दोबारा फिरौती मांगने पर पुलिस को मिला सुराग।
  • 24 फरवरी : पुलिस ने देर रात शव किए बरामद, सुबह हत्या की हुई पुष्टि।

 

 

बवाल एक नजर में

  • आयुर्वेदिक तेल कारोबारी के मासूम बेटों का 12 फरवरी को स्कूल से हुआ था अपहरण 
  • बांदा के बबेरू औगासी घाट के पास यमुना नदी मे जंजीर से बांधकर फेंका था जिंदा  
  • अपहरण करने वाले सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट के पुजारी का बेटा व ग्रामोदय विवि के छात्र  
  • छह आरोपित गिरफ्तार, फिरौती में दिए 11.46 लाख रुपये, कट्टे, बाइक व बोलेरो मिली   
  • विरोध में चित्रकूट-सतना रोड, झांसी-मीरजापुर हाईवे पर प्रदर्शन, पुलिस के फूंके पुतले   
  • लाठीचार्ज कर खदेड़ा, आंसू गैस के गोले छोड़े, सिपाहियों करीब एक दर्जन लोगों को चोटें 

आरोपित को दबोचा

चित्रकूट के सीतापुर रामघाट निवासी आयुर्वेदिक तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के पांच वर्षीय मासूम जुड़वां बेटों प्रियांश व श्रेयांश का 12 फरवरी को अपहरण हुआ था। 13 दिन तक कई जिलों की खाक छानने के बाद शनिवार रात पुलिस ने बांदा के बबेरू थानाक्षेत्र के भभुआ में छापा मारकर एक आरोपित राजीव द्विवेदी को दबोचा। उसकी निशानदेही पर बाकी आरोपितों को पकडऩे के बाद दोनों मासूमों के शव बरामद किए। घटना का सूत्रधार पूर्व ट्यूशन टीचर रामकेश यादव निकला जबकि मास्टरमाइंड ग्रामोदय विवि का छात्र पदम शुक्ला है। साथ में ग्रामोदय विश्वविद्यालय के चार छात्र व ट्रस्ट के पुजारी का बेटा भी शामिल है। 

जगह-जगह पुतले फूंके

रविवार सुबह सतना-चित्रकूट रोड, कर्वी मुख्यालय में झांसी-मीरजापुर हाईवे पर हजारों व्यापारी सड़क पर आ गए। श्री सद्गुरु महिला बहुउद्देशीय सह समिति मर्यादित मॉल, पास स्थित यूनियन बैंक के एटीएम व ट्रैफिक बूथ पर तोडफ़ोड़ की। एमपी पुलिस मुर्दाबाद, हत्यारों को फांसी दो के नारे लगाते हुए जगह-जगह पुतले फूंके। रीवां आइजी चंचल शेखर, सतना कलेक्टर सतेंद्र सिंह, एसपी संतोष सिंह गौर ने समझाने की कोशिश की पर लोग उग्र रहे। बाद में पुलिस ने लाठीचार्ज व आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को नियंत्रित किया। आइजी रीवां ने बताया कि अपहर्ताओं ने दो करोड़ फिरौती मांगी थी। परिवारीजन ने 19 फरवरी की रात को 11.46 लाख रुपये दे दिए। उन रुपयों के साथ छह तमंचे, तीन बाइक, एक बोलेरो कार बरामद कर छह अपहर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।

छह आए गिरफ्त में

1- राजीव द्विवेदी उर्फ रोहित, निवासी भभुआ, बबेरू, बांदा।

2- पदम शुक्ला,जानकीकुंड, रघुवीर मंदिर के सामने नयागांव चित्रकूट सतना।

3- आलोक सिंह उर्फ लकी सिंह तोमर निवासी ग्राम तेदुरा, बिसंडा, बांदा।

4- विक्रमजीत सिंह, बिलपुर, थाना बहिलपुर, जिला जमुआ बिहार।

5- रामकेश यादव निवासी छेरा, बांदा।

6-पिंटू उर्फपिंटा, निवासी गुरदहा, हमीरपुर यूपी।

 

अनजान के फोन से कॉल से फंसे

पुलिस के मुताबिक अपहर्ता बेहद शातिर हैं। एक आरोपित ने राह चलते व्यक्ति के फोन से तेल कारोबारी को फोन कर फिरौती मांगी थी। फोन धारक को धमकाया भी लेकिन उसने आरोपितों की बाइक की फोटो खींच ली थी। पुलिस तलाश करते हुए उस व्यक्ति तक पहुंची तो उसने बाइक का नंबर और फोटो दे दी। राजीव धरा गया तो पूरा मामला खुल गया।

प्रदेश में जंगलराज : अखिलेश

बांदा में दो जुड़वां बच्चों की हत्या को लेकर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार को घेरा और कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल है। कानून व्यवस्था के नाम पर जंगलराज है। अपराधी बेखौफ हैैं। घटना पर अखिलेश ने ट्वीट करके दुख जताया। फिर एक बयान जारी करके उन्होंने कहा कि प्रदेश के नागरिक भयभीत हैं। उनकी सुरक्षा प्रशासन तंत्र से नहीं अपराधियों, माफिया गिरोहों की कृपा पर निर्भर हो गई है। मुख्यमंत्री ने शपथ लेते ही बड़े दावे किए थे कि अब अपराधी या तो जेल में होंगे या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे। लेकिन, हकीकत यह है कि अब तो दूसरे राज्यों के अपराधी भी उत्तर प्रदेश को सुरक्षित पनाहगाह मानने लगे हैं। दुख है कि अब मां-बाप बच्चों को स्कूल भेजने से भी डरेंगे।

 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस