जागरण टीम, चित्रकूट : जिले में सोमवार को नम आंखों से मां जगत जननी को विदाई दी गई। विभिन्न जलाशयों देवी प्रतिमाओं का विसर्जन कोरोना के कारण सादगी के साथ किया गया। इस दौरान सुरक्षा के प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए थे। डीेएम व एसपी ने भी जलाशयों का निरीक्षण कर विसर्जन के इंतजाम देखे।

जिला मुख्यालय में स्थापित देवी प्रतिमाओं का विसर्जन कलेक्ट्रट के पास गढ़ीवा तालाब, बनकट तालाब व रानीपुर भट्ट तालाब में किया गया। जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय और पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने सुबह मूर्ति विसर्जन स्थल बनकट व गढीवां तालाब का निरीक्षण किया। ड्यूटी पर उपस्थित कर्मचारियों को निर्देश दिए कि मूर्ति विसर्जन के दौरान कोई भी व्यक्ति गहराई मे न जाने पाए।एसडीएम सदर रामप्रकाश, क्षेत्राधिकारी नगर रजनीश कुमार, पीआरओ वीरेंद्र त्रिपाठी, ईओ नगर पालिका नरेंद्र मोहन मिश्र मौजूद रहे। मानिकपुर प्रतिनिधि के अनुसार मां दुर्गा प्रतिमाओं का विर्सजन गाजे बाजे के साथ भरोसा सागर बांध मे किया गया। एसडीएम संगमलाल गुप्ता , थाना प्रभारी के के मिश्रा , एस आई अशोक निगम मय पुलिस फोर्स के साथ जुटे रहे। ईओ रामआशीष वर्मा ने बताया नगर समेत दराई , गुरोला , पटा , सरहट के 20 देवी प्रतिमा विर्सजित की गई हैं। मऊ प्रतिनिधि के अनुसार शांतिपूर्ण ढंग से मूर्तियों का विसर्जन हुआ। लगभग चार दर्जन मूर्तियों का विसर्जन विभिन्न जलाशय में किया गया। थाना क्षेत्र में कुल 61 मू‌िर्त्तयां स्थापित बताई गई है। कुछ मूर्तियों का विसर्जन मंगलवार को संपन्न होगा। इसके अलावा राजापुर और पहाड़ी में भी देवी प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस