चित्रकूट, जागरण संवाददाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के नौ रत्न अब गांव गोद लेकर स्वच्छ व सुंदर बनाएंगे। जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य ने भी जनपद के पांच गांव गोद लिए हैं। जिनको एक साल में शत प्रतिशत शौचालय से आच्छादित करने का लक्ष्य रखा है।

केंद्र सरकार को स्वच्छता अभियान का रिपोर्ट कार्ड सौंपने के बाद जगद्गुरु रामभद्राचार्य पत्रकारों से रुबरु हुए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने जब अखिलेश यादव को नौ रत्न बनाया था तो उन्हें भले ही उस समय बुरा लगा था लेकिन अब अच्छा महसूस कर रहे हैं। बैठक में कहा गया था कि सभी नौ रत्न गांव को गोद लेकर उनसे साफ और सुंदर बनाएं। इसलिए उन्होंने धर्मनगरी से सटे गांव खोही, चितरा, मालकाना, सीतापुर ग्रामीण और रानापुर भंट्ट को गोद लिया है। जब यह गांव साफ और स्वच्छ होंगे तो धर्मनगरी अपने आप सुंदर बनेगी। उनका प्रयास होगा कि जल्द से जल्द इन गांवों के हर घर में शौचालय हो।

सरकार 12 हजार रुपए शौचालय निर्माण को दे रही है ऐसे में किसी को शौचालय बनाने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए। गांव-गांव में उनके स्वच्छता दूत लोगों को जागरूक करेंगे।

विवि में सरकार लगाएंगी सौर ऊर्जा

जगद्गुरु ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के एक बार फिर तारीफ के पुल बांधे। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में वह विकलांगों को नि:शुल्क शिक्षा, आवास आदि दे रहे हैं लेकिन बिजली का काफी खर्च है जिसको विवि वहन करने में असमर्थ है। जिसको संज्ञान में उन्होंने सीएम को पत्र दिया था। सीएम ने उन्हें वहीं पर आश्वासन दिया था कि सरकार उनके विवि में नि:शुल्क सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करेंगी।