जागरण संवाददाता, चंदौली : जिला टास्क फोर्स की बैठक शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। इसमें टीकाकरण से वंचित लोगों को चिह्नित करने के लिए जिले में 24 से 29 जनवरी तक डोर-टू-डोर अभियान चलाने की रणनीति बनी। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने सर्वे टीम के पास मास्क, सैनिटाइजर समेत जरूरी संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। ताकि संक्रमण के खतरे से बचे रहें।

उन्होंने कहा कि जिले में 24 से 29 जनवरी तक हाउस टू हाउस कैंपेन किया जाएगा। इसके लिए पहले से सटीक रणनीति तैयार कर ली जाए। पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर यह अभियान चलाया जाएगा। शासन की गाइडलाइन के अनुसार पहले ही सर्वे टीम का गठन कर लिया जाए। सभी टीमों के पास पर्याप्त मात्रा में मास्क व सैनिटाइजर उपलबध होना चाहिए। पल्स आक्सीमीटर व इंफ्रारेड थर्मामीटर के साथ टीमें घर-घर जाकर लोगों के शरीर का तापमान जांचेंगी। इसके लिए जिन टीमों के पास उपकरण नहीं है, वे बीडीओ से संपर्क कर तत्काल इसकी व्यवस्था कराएं। ग्सर्वे के दौरान दूसरी डोज न लगवाने वालों का भी डाटा तैयार किया जाना चाहिए। उन्हें शीघ्र टीका लगवाया जाए। उन्होंने कहा कि 15 से 18 साल तक आयु वर्ग वाले बच्चों का शत-प्रतिशत टीकाकरण जल्द पूरा कर लिया जाए। सर्वे टीम कोविड-19 के विषय में संवेदीकरण के साथ कोविड-19 लक्षणयुक्त व्यक्ति, नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चे, 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में कोविड-19 की पहली खुराक न लगवाने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर सूचीबद्ध कर लिया जाएगा। डीएम ने कहा कि माइक्रो प्लान के अनुसार जिलों में टीमों का गठन किया जाएगा। प्रत्येक सर्वेक्षण टीम में दो सदस्य होंगे। टीम के सदस्य सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक भ्रमण करेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में टीम में आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अनिवार्य रूप से शामिल किया जाए। एडीएम उमेश मिश्रा, सीएमओ डाक्टर युगल किशोर राय, एसीएमओ डाक्टर आरबी शरण समेत विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran