जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर (चंदौली) : जहां-तहां कूड़े-कचरे का अंबार और सड़कों पर बेतरतीब ढंग से पसरी हुई गंदगी। यह पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर पालिका परिषद की पहचान बन गई है। वार्डों में सफाई अभियान का असर नहीं दिख रहा है। विभिन्न स्थानों पर लगा कूड़े का अंबार व्यवस्था को मुंह चिढ़ा रहे हैं। कई दिन तक कूड़ा न हटाए जाने से उसके सड़ांध से उठ रही दुर्गंध से लोगों का रहना मुश्किल हो गया है। दुर्गंध के चलते लोग रास्ता तक बदल दे रहे है। वार्ड में गंदगी संक्रामक रोग को दावत दे रही है। हद तो यह है कि चेयरमैन के आवास जाने वाले रविनगर मार्ग पर हमेशा कूड़े का अंबार लगा रहता है।

सबसे बुरा हाल तो शहर की घनी आबादी वाले भीतरी मोहल्लों का है। जहां के लोग कचरे के ढेर, सड़ांध और बदबू के बीच अपना जीवन बसर करने को बाध्य हैं। स्थिति है कि यहां किसी भी मोहल्ले में पर्याप्त मात्रा में कूड़ादान उपलब्ध नहीं है। इसका नतीजा है कि जहां-तहां कूड़े-कचरे फेंक दिए जा रहे हैं। कचरे का नियमित रूप से उठाव नहीं होने के कारण प्राय: सभी मोहल्लों में सफाई की स्थिति बदतर है। लगभग लोगों को कचरा रखने के लिए दो तरह की डस्टबिन दी गई है। एक में सूखा कचरा रखना है, दूसरे मे गिला कचरा रखना है। बावजूद लोग खुले में डाल दे रहे हैं। सफाई कर्मी उसका उठाव करते हैं। अगर किसी कारणवश किसी को एक बार भी डस्टबिन नहीं मिला है। कूड़े के ढेर में भिनभिनाती मक्खियां बीमारी बांटती देख रही हैं। जगह जगह लगा कूड़ा का ढेर सफाई व्यवस्था की पोल खोल रही थी। सड़क किनारे पड़ी गंदगी को बेसहारा पशु बीच सड़क तक फैला देते हैं। इससे राहगीरों को परेशानी होती है। वार्डवासियों का आरोप है कि चेयरमैन से शिकायत करने के बावजूद सफाई नहीं कराई जा रही है। गंदगी के ढेर से उठ रही दुर्गंध से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है।

Edited By: Jagran