जागरण संवाददाता, चंदौली : कोरोना की वजह से स्कूलों में पठन-पाठन बंद है। इसके बावजूद परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों की सेहत का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। बच्चों को एमडीएम का राशन व परिवर्तन राशि दी जा रही है ताकि बच्चों को भोजन-पानी में किसी तरह की दिक्कत न होने पाए। प्राथमिक स्कूल के प्रत्येक बच्चों को मार्च से जून 2020 तक 7.6 किलोग्राम राशन और 374 रुपये परिवर्तन धनराशि दी गई। जुलाई से अगस्त तक 4.9 किलोग्राम राशन और 243.50 रुपये सितंबर से फरवरी 2021 तक 13.80 किलोग्राम राशन और 685 रुपये परिवर्तन राशि भेजी गई। वहीं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के बच्चों को भी लाभ मिला। मार्च से जून 2020 तक 11.4 किलो राशन और 561 रुपये परिवर्तन राशि दी गई। जुलाई से अगस्त तक 7.35 किलो ग्राम राशन और 365 रुपये परिवर्तन राशि दी गई। सितंबर को 2020 से फरवरी 2021 तक 18.60 किलो राशन और 923 रुपये दिए गए। इस प्रकार प्राथमिक स्कूलों के बच्चों के अभिभावकों के खाते में 1302 रुपये परिवर्तन राशि व 26.30 किलोग्राम राशन मिला। वहीं पूर्व माध्यमिक स्कूल के बच्चों के अभिभावकों के खाते में 1849 रुपये परिवर्तन राशि और 37.35 किलोग्राम राशन दिया गया। बीएसए सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कि फिलहाल स्कूलों में पठन-पाठन बंद है। ऐसे में अभिभावकों के खाते में एमडीएम की परिवर्तन राशि भेजी जा रही है। कोटे की दुकानों से अनाज भी दिया जा रहा है।

Edited By: Jagran