जागरण संवाददाता, बबुरी (चंदौली): भरूहिया गांव स्थित नहर में घटमापुर निवासी रिक्शा ट्राली चालक लालमन 30 वर्ष का शव बुधवार की सुबह मिलने से सनसनी फैल गयी। पीड़ित परिवार ने हत्या की आशंका जताई तो भाकपा माले कार्यकर्ता लामबंद हो गए। गांव के ही एक कोटेदार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराने को थाना पहुंच प्रदर्शन करने लगे। थाना प्रभारी के समझाने एवं कानूनी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाने पर मामला शांत पड़ सका।

करेमुआ ग्राम पंचायत के राजस्व गांव घटमापुर गांव निवासी लालमन मंगलवार की दोपहर अपनी रिक्शा ट्राली चलाने का कार्य करते थे। उसे मंगलवार को उतरौत से खाद पहुंचाने का भाड़ा मिला था। वह निर्धारित स्थान पर उर्वरक पहुंचाने के बाद देर शाम तक घर नहीं पहुंचा। रात होने को हुई तो परिजनों की बेचैनी बढ़ने लगी। दरअसल, लालमन शाम ढलने तक घर किसी भी दशा में पहुंच ही जाता था। परिजन अनहोनी की आशंकावश परेशान हो उठे। परिजन उसे ढूंढने निकले तो यहां-वहां से जानकारी जुटाने के बाद भरुहिया गांव पहुंचे तो नहर में लालमन का शव नजर आ गया। पुलिस पहुंची तो शव को कब्जे में लेकर छानबीन में जुट गई। मृतक के पिता सियाराम ने पुलिस को दी तहरीर में लगाया कि 10 दिन पूर्व करेमुआ गांव के कोटेदार से उनके पुत्र का खाद्यान्न लेने को लेकर विवाद हुआ था। सियाराम के भाकपा माले से जुड़ा होने के कारण संगठन उनके साथ खड़ा हो गया। आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कराने एवं गिरफ्तारी को हो-हल्ला मचाने लगे। आरोप लगाया कि लालमन के गले में सूजन, नाक व कान से ब्लड निकलना हत्या की ओर इंगित करता है। इंस्पेक्टर ने संतोष कुमार राय ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर हत्यारोपित की गिरफ्तारी को दबिश दी जा रही है।

परिवार में कमासुत पुत्र थे लालमन

घटमापुर गांव निवासी भाकपा माले कार्यकर्ता सियाराम के पांच पुत्रों में लालमन सबसे बड़े एवं कमाने वाले थे। गरीबों के चलते लालमन रिक्शा ट्राली चलाकर परिवार का जीवकोपार्जन करते थे। पिछले वर्ष लालमन की शादी संजू के साथ हुई थी। लालमन की मौत से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

Posted By: Jagran