जागरण संवाददाता, वनगावां (चंदौली) : प्रदेश की शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए राहत भरी खबर है। तीन दिन तक उन्हें रोडवेज बसों में निश्शुल्क सफर करने का मौका मिलेगा। इससे वे घर से परीक्षा केंद्र पर आसानी से पहुंच जाएंगे। परीक्षा समाप्त होने के बाद अभ्यर्थियों के घर वापसी की लिए भी यह सुविधा दी जाएगी। शासन ने परिवहन निगम के अधिकारियों को इसके लिए निर्देश दिया है।

दरअसल, शिक्षक पात्रता परीक्षा 23 जनवरी रविवार को सूबे के सभी जिलों में होगी। इसके लिए 22 से 24 जनवरी के बीच परिवहन निगम की बसों में अभ्यर्थियों को निश्शुल्क यात्रा करने की सुविधा मिलेगी। अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से जारी अपना प्रवेश पत्र दिखाकर इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे। परिवहन निगम के मुख्यालय से परिचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को रोडवेज बसों में निश्शुल्क यात्रा सुविधा दी जाए। अभ्यर्थियों से शुल्क लेने की शिकायत मिली तो संबंधित परिचालक के विरुद्ध कार्रवाई होगी। एआरएम के अनुसार अभ्यर्थियों से परिचालक को प्रवेश पत्र की स्वहस्ताक्षरित छायाप्रति अवश्य प्राप्त करानी होगी। एक तरह से प्रवेश पत्र को ही बस का टिकट माना जाएगा। प्रवेश पत्र पर यात्रा का दिन, बस का नंबर, किराए की धनराशि आदि अंकित करना होगा।

18 केंद्रों में 16,315 अभ्यर्थी देंगे परीक्षा

जिला विद्यालय निरीक्षक डाक्टर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि 23 जनवरी को टीईटी की आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए 18 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें 16, 315 अभ्यर्थी शामिल होंगे। परीक्षा में सचल दल के साथ ही स्टैटिक मजिस्ट्रेट व पर्यवेक्षक नियुक्त गए हैं, जो परीक्षा की सतत निगरानी करेंगे। परीक्षा दो पालियों में आयोजित होनी है। पहली पाली में प्राथमिक स्तर के 9829 व दूसरी पाली में उच्च प्राथमिक स्तर के 6486 शामिल होंगे।

Edited By: Jagran