जासं, चकिया (चंदौली) : कर्मनाशा नदी में डूबने से पीतपुर ग्राम पंचायत के बलुआ बस्ती निवासी गोलू खरवार (15) की सोमवार की दोपहर मौत हो गई। इससे गांव में कोहराम मच गया। किशोर घर का इकलौता चिराग था। वह नदी में मवेशियों को धोने व पानी पिलाने गया था।

बस्ती निवासी दिनेश खरवार समीपवर्ती कर्मनाशा नदी के किनारे खेती व पशुपालन करते हैं। उनका इकलौता पुत्र गोलू भोजन करने के बाद नित्य की भांति मवेशियों को धोने व पानी पिलाने गया था। आशंका जताई जा रही कि नदी में पैर फिसलने के कारण किशोर गहरे पानी में डूब गया, जिससे उसकी सांसे थम गई। थोड़ी देर बाद अन्य पशुपालक नदी में मवेशियों को लेकर पहुंचे तो किशोर गोलू का शव उतराया देख सन्न रह गए। घटना की खबर जंगल में आग के समान फैल गई। रामपुर चौकी पुलिस ने चरवाहों की मदद से नदी से शव को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। मृतक किशोर कक्षा तीन तक की पढ़ाई करने के बाद घर गृहस्थी के कार्यों में लग गया था। पुत्र की मौत से परिजनों बिलख पड़े। शोक में बस्ती के कई घरों के चूल्हे नहीं जले।

Posted By: Jagran