जासं, इलिया (चंदौली) : सरैया गांव स्थित प्रबोधक साधु समाज की कुटिया के कुएं में नाली का गंदा पानी जाने से गुरुवार को श्रद्धालु आक्रोशित हो गए। दर्जनों की संख्या में लामबंद होकर प्रदर्शन किया। अनदेखी का आरोप लगाते हुए अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। चेताया प्रशासन ने नाली का गंदा पानी रोकने को कदम नहीं उठाया तो उग्र आंदोलन होगा। 

नाराज लोगों ने कहा कुएं के पानी का उपयोग यहां आने वाले श्रद्धालु करते हैं। कुटिया में होने वाले धाíमक काज में भी कुएं का पानी प्रयोग होता है। बीते वर्ष कुएं की सफाई व मरम्मत के साथ चबूतरा का निर्माण कराया गया। कई महीने से गंदा पानी गिरने से कुएं का पानी दूषित हो गया है। इससे श्रद्धालुओं को मुश्किलें उठानी पड़ रही हैं। कुटिया के बगल से ही सैदूपुर- मनकपड़ा मार्ग है। नाबदान के पानी की निकासी को मार्ग के किनारे सीवर व नाली बनी है। सफाई के नहीं होने से नाली जाम हो गई है। इससे पानी ओवरफ्लो कर कुएं में गिर रहा है। एक पखवारा पूर्व जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत की गई। आश्वासन मिला समस्या से शीघ्र निजात दिलाई जाएगी। लेकिन समस्या दूर करने को कौन कहे, शिकायत की जांच करने को ही अधिकारी नहीं आए। प्रदर्शन करने वालों में संत सचून सिंह, पप्पू, शिवमूरत, रामदास, शिवशंकर, रजनीश मौर्य, धर्मदेव, राजकुमार, चंदन आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप