जासं, सकलडीहा (चंदौली) : नागेपुर निवासी रणजीत की ससुराल में हुई मौतमामले में मामा ऋषि यादव ने ससुराल पक्ष पर भांजे की हत्या का आरोप लगाते हुए चौबेपुर थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। उन्होंने रंजीत की हत्या के बाद मामले को आत्महत्या का रूप देने का ससुराल वालों पर आरोप लगाया।

नागेपुर गांव के स्व. अंगद यादव के दो पुत्रों में रणजीत यादव का विवाह सात वर्ष पूर्व चौबेपुर थाना के लुठा गांव निवासी स्व.नकछेद यादव की पुत्री मीरा से हुआ था। एक माह पूर्व पत्नी मीरा मायके चली गयी थी। दो दिन पूर्व रणजीत दोनों बेटे का स्वेटर खरीदकर उनसे मिलने ससुराल गया था। शनिवार की सुबह रणजीत द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या कर लेने की ससुराल पक्ष की सूचना पर मृतक के रानेपुर निवासी मामा ऋषि व अन्य परिजन ससुराल पहुंचे। मामा ने उसी समय रणजीत की हत्या की आशंका जताते हुए मृतक की पत्नी व सालों से पूछताछ की। सबने इसे आत्महत्या बताते हुए सिरे से खारिज कर दिया लेकिन मामा ऋषि ससुराल वालों के जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने शनिवार को चौबेपुर थाने में पत्नी मीरा, सास प्रेमा, साले धर्मेंद्र, धर्मराज, धर्मदेव व साली आरती पर भांजे की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। ऋषि ने बताया कि रणजीत के ससुराल वालों से अच्छे संबंध नहीं थे। उसके सालों से पूर्व में भी एक बार रणजीत के साथ मारपीट हुई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप