जागरण संवाददाता, चंदौली : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में आधार संबंधी त्रुटियों का जल्द समाधान होगा। कृषि विभाग की ओर से इसको लेकर ब्लाक स्तर पर एक से तीन फरवरी तक शिविर लगेगा। इसके लिए अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कंप्यूटर आपरेटर किसानों के नाम व आधार कार्ड से संबंधित गड़बड़ियां दूर करेंगे। इसको लेकर शासन ने प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी व कृषि उपनिदेशक को पत्र भेजा है।

केंद्र सरकार ने अन्नदाताओं की मदद के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शुरू की है। इसके तहत साल में तीन किस्तों में छह हजार रुपये धनराशि किसानों के खाते में भेजी जाती है। ताकि किसानों को खाद, बीज की खरीदारी करने और छोटी जरूरतों के लिए किसी के सामने हाथ न फैलाना पड़े। हालांकि आवेदन में गड़बड़ी की वजह से कफी संख्या में किसानों को योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। किसी का आधार नंबर गलत अंकित है तो किसी का नाम मिस मैच करता है। इसके चलते उनके खाते में किस्त नहीं पहुंच पाती है। इसको लेकर अन्नदाता कृषि विभाग के दफ्तर का चक्कर काटते रहते हैं। शासन ने इसको गंभीरता से लिया है। कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी ने इसके बाबत प्रशासन को पत्र भेजा है। उन्होंने किसान सम्मान निधि के आवेदन की त्रुटियों को दूर करने के लिए एक से तीन फरवरी तक विशेष शिविर लगाने का निर्देश दिया। कृषि विभाग ने अपने स्तर से तैयारी शुरू कर दी है। कृषि उपनिदेशक राजीव कुमार भारती ने बताया कि ब्लाक स्तर पर कैंप लगेगा। यहां कंप्यूटर आपरेटर मौजूद रहेंगे। किसानों के आधार व नाम से संबंधित गड़बड़ी दूर करेंगे।

2.02 लाख किसानों को मिल रहा लाभ

जिले में 2.02 लाख किसानों के खातों में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की धनराशि पहुंच रही है। जबकि 19 हजार किसानों के आवेदन में गड़बड़ी है। किसानों के आधार कार्ड नंबर और नाम में गड़बड़ी है। इसकी वजह से उनके खाते में पैसा नहीं पहुंच पा रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021