जासं, बरहनी  (चंदौली) : शमशेर अंसारी हत्याकांड के आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस व मृतक परिजनों ने राहत की सांस ली। रामपुर निवासी शमशेर अंसारी (42) की 13 मई को डेढ़गावां सुढ़ना मार्ग पर वाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में उनके बड़े भाई कुद्दूस ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस हमलावरों की तलाश में 10 दिन से खाक छान रही थी। थाना प्रभारी विनोद यादव के अनुसार आरोपितों की शिनाख्त होने के बाद 20 मई की रात उनके घर छापेमारी की गई थी। लेकिन लंका वाराणसी पुलिस डेढ़गावा, धीना व नूरी, धीना से उठा ले गई। दोनों के अचानक गायब होने पर अपहरण की बात चर्चाओं में रही। उधर पीजी कालेज के प्राचार्य से रंगदारी मांगने में भी ये आरोपित थे। वाराणसीे में पकड़े जाने की जानकारी होते ही पुलिस ने राहत की सांस ली।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप