जागरण संवाददाता, चंदौली : पीएम स्वनिधि योजना से सड़क किनारे दुकान चलाकर दो जून की रोटी का इंतजाम करने वाले स्ट्रीट वेंडर के सपने सच होंगे। इसको लेकर प्रधानमंत्री ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए योजना के लाभार्थियों से बात की। सदर नगर पंचायत कार्यालय सभागार में कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया। साथ ही लोगों को जागरूक भी किया गया।

केंद्र सरकार ने सड़क किनारे छोटी दुकान, ठेला-खुमचा लगाकर रोटी-रोटी कमाने वालों की मदद के लिए पीएम स्वनिधि योजना शुरू की है। इसके तहत नगर निकाय प्रशासन की ओर से पंजीकृत स्ट्रीट वेंडरों को बैंकों से 10 हजार रुपये तक का ऋण दिलाया जा रहा है। एक साल में वेंडरों को लोन का पैसा चुकता करना होगा। समय से ऋण की अदायगी पर वेंडरों को सात प्रतिशत तक लगने वाले ब्याज पर रियायत मिलेगी। पीएम ने अन्य जिलों के स्ट्रीट वेंडरों से योजना के बाबत जानकारी ली। कई वेंडरों ने योजना से जुड़ने के बाद किस्मत बदलने की बात कही। बताया कि योजना के चलते अब रोजगार के लिए धनराशि जुटाने को किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना होगा। बैंक से ऋण लेकर सम्मान के रोजगार कर सकेंगे। डीएम ने कहा, गरीबों के लिए योजना काफी कारगर है। ऐसे में नगर निकाय प्रशासन ऐसे स्ट्रीट वेंडरों को चिह्नित कर पंजीकरण कराने के बाद बैंकों को सूची उपलब्ध कराए। ताकि अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सके। कार्यक्रम के दौरान नगर पंचायत चेयरमैन रवींद्रनाथ, एलडीएम पीके झा, ईओ राजेंद्र प्रसाद समेत अन्य मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस