जागरण संवाददाता, चहनियां (चंदौली) : बाबा कीनाराम मठ रामगढ़ की ओर से मंगलवार को संत शिरोमणी अघोरेश्वर बाबा कीनाराम जन्मोत्सव समारोह के समापन के बाद बाहर से आए साधु संतों की विदाई धूम-धाम के साथ की गई। पीठाधीश्वर सिद्धार्थ गौतम रामजी के साधु-संतों को भंडारे में भोजन कराने के बाद अंगवस्त्र सौंप सम्मान के साथ विदा किया। शांति पूर्वक जन्मोत्सव की सफलता पर क्षेत्रीयजनों के साथ प्रबुद्धजनों व जिला प्रशासन को शुभकामनाएं दीं।

तीन दिवसीय बाबा कीनाराम का जन्मोत्सव आठ सितंबर को धूमधाम के साथ आगाज हुआ। इसमें क्षेत्र ही नहीं आप-पास के पड़ोसी जिलों, राज्यों के भक्तों ने बाबा के दरबार में मत्था टेका और आशीर्वाद लिया। तीन दिनों तक बाबा कीनाराम की तपोस्थली पर रंगारंग कार्यक्रम चला। श्रद्धालुओं के अलावा बाहर से आए संत भी मंत्रमुग्ध हो गए। इस दौरान सुबह भजन कीर्तन, सांस्कृतिक कार्यक्रम, संध्या भजन व रात में सांस्कृति कार्यक्रम चलाता रहा। मेले का भी आयोजन हुआ था। इसमें बच्चों, बूढ़ों, महिलाओं संग सभी शामिल हुए। बाबा कीनाराम की तपोभूमि पर मत्था टेक अपने को धन्य महसूस किए। मंगलवार को हुई संतों की विदाई के दौरान सभी को बिछड़ने का गम रहा, लेकिन अपने साथ बाबा कीनाराम की यादें लेकर अपने-अपने गंतव्य को रवाना हो गए। कार्यक्रम संयोजक अजीत कुमार ¨सह ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए क्षेत्रीयजनों संग सभी ह्दय की गहराई से धन्यवाद दिया।

Posted By: Jagran