जागरण संवाददाता, चंदौली : जिला पंचायत राज अधिकारी ब्रह्मचारी दुबे ने गांव के परिवार रजिस्टर में गड़बड़ी और विभागीय कार्यों में लापरवाही पर चकिया विकास खंड के गरला गांव के ग्राम पंचायत सचिव महेंद्र प्रसाद को निलंबित कर दिया। परिवार रजिस्टर का पेज गायब मिला। कई जगहों पर ओवरराइटिग की गई थी। लापरवाही संज्ञान में आने पर सेक्रेटरी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया था लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। इस पर डीपीआरओ ने निलंबित कर दिया। इससे खलबली मची है।

सहायक विकास अधिकारी ने पिछले दिनों गरला गांव का निरीक्षण किया था। परिवार रजिस्टर का अवलोकन किया तो तमाम तरह की कमियां देखने को मिलीं। परिवार रजिस्टर का पेज गायब था। कई पृष्ठों पर ओवर राइटिग की गई थी। ग्राम पंचायत सचिव की ओर से परिवार रजिस्टर को त्रैमासिक अपडेट नहीं किया गया था। लापरवाही संज्ञान में आने पर खंड विकास अधिकारी ने डीपीआरओ को पत्र भेजकर अवगत कराया था। इस पर जिला पंचायत राज अधिकारी ने नोटिस जारी कर सचिव महेंद्र प्रसाद से एक सप्ताह के अंदर जवाब मांगा था लेकिन निर्धारित अवधि के अंदर कोई जवाब नहीं मिला। इस पर डीपीआरओ ने सचिव को निलंबित कर दिया। साथ ही अपर जिला पंचायत राज अधिकारी को पूरे प्रकरण की जांच का निर्देश दिया है। एक सप्ताह के अंदर जांच कर रिपोर्ट मांगी है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया कि परिवार रजिस्टर को समय से अपडेट न करने और गड़बड़ी पर ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित किया गया है। नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया था लेकिन सचिव ने कोई जवाब नहीं दिया। इस पर कार्रवाई की गई। पंचायत सचिव व सफाईकर्मी ईमानदारी के साथ दायित्वों का निर्वहन करें, वरना उनके विरूद्ध भी विभागीय कार्रवाई तय है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस