जासं, मुगलसराय(चंदौली): शहर कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने गुरुवार को काली महाल स्थित पार्टी कार्यालय पर देश के प्रथम शिक्षा मंत्री व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मौलाना अबुल कलाम आजाद की पुण्यतिथि मनाई। कार्यक्रम का आरंभ मौलाना आजाद के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। इस अवसर पर गोष्ठी का आयोजन भी किया गया।

शहर अध्यक्ष रामजी गुप्ता ने कहा कि मौलाना अबुल कलाम आजाद सच्चे देशभक्त थे। देश के प्रति उनका प्रेम और योगदान को देखते हुए उन्हें देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्?न से सम्मानित किया गया। एक महान सेनानी के रूप में वे आज भी हमारे बीच हैं। उन्होंने देश में आइआइटी की नींव डालकर इंजीनियर बनने वाले छात्रों की राह खोली। कहा कि विद्वता के कारण उन्हें कांग्रेस पार्टी का सबसे कम उम्र का अध्यक्ष होने का गौरव भी प्राप्त हुआ। नंदगोपाल ¨सह, नवीन पांडेय, संतोष तिवारी, रमेश ¨सह, मृत्युंजय शर्मा, नेहाल अख्तर, रोहित गुप्ता, गुफरान अहमद, कन्हैया केशरी, मोहन गुप्ता, राजकुमार, महेश मंडल, विश्वास, असलम, कमल यादव आदि उपस्थित थे।

वहीं दूसरी तरफ अखिल भारतीय अधिवक्ता परिषद के सदस्यों ने गुरुवार को पराहूपुर स्थित कैंप कार्यालय पर देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद की जयंती मनाई। इस अवसर पर सिविल बार एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व पूर्व महामंत्री वीरेंद्र प्रताप ¨सह दाढ़ी ने कहा कि मौलाना अबुल कलाम आजाद कवि, लेखक, पत्रकार और भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे। आजादी के बाद वे भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के रामपुर जिले से 1952 में सांसद चुने गए और वे भारत के पहले शिक्षा मंत्री बने। इस अवसर पर विजय बहादुर ¨सह, तारकेश्वर ¨सह, अमित ¨सह, दुर्गेश, धर्मेंद्र ¨सह, रविप्रकाश ¨सह, हरेंद्र ¨सह, सुनीता चौधरी, मनीष तिवारी आदि उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस