जागरण संवाददाता, नौगढ़ (चंदौली) : स्थानीय कस्बे से शनिवार को आरएसएस में वर्ग की शिक्षा के लिए युवाओं को चंदौली के लिए तिलक, चंदन लगाकर रवाना किया गया। शिक्षार्थियों को एक सप्ताह की ट्रेनिग दी जाएगी। खंड कार्यवाह अश्विनी दुबे ने वर्ग की शिक्षा पर प्रकाश डाला। बताया कि आरएसएस स्वयंसेवक और कार्यकर्ता में अंतर है। स्वयंसेवक वह होता है, जो शाखा में शामिल होता है और संघ के जीवन दर्शन का पालन करता है। वहीं संघ के आयोजित शिविर में चार कठोर लेवल को पार करने के बाद एक आरएसएस कार्यकर्ता तैयार होता है। इस ट्रेनिग शिविर को संघ शिक्षा वर्ग के नाम से जाना जाता है। शिक्षार्थियों में साहिल गुप्ता, विनोद कुमार, अनिल, प्रिस, अंकुर, सत्यार्थ, हिमांशु, सूर्यकांत, खंड विद्यार्थी प्रचारक मंगल , कृष्ण जायसवाल आदि शामिल थे।

Edited By: Jagran