मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर (चंदौली) : मिनी महानगर में जाम बेलगाम हो गया। शहर में रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। सड़कों पर आड़े-तिरछे वाहन खड़े रहते हैं। बाजार में दिन भर जाम की स्थिति बनी रहती। आम लोगों को बाजार में निकलने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा। हालत यह कि पांच मिनट की दूरी तय करने में आधा घंटे से ज्यादा का समय लग जाता है। इसके बाद भी शासन-प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा।

नगर में जाम की समस्या कोई नई नहीं है। नगर के लोग वर्षों से जाम से जूझते आ रहे हैं। नगर से होकर गुजरने वाले वाहन सवारों को कब जाम का सामना करना पड़े, कुछ कहा नहीं जा सकता। जाम भी ऐसा कि लोग बिलबिला जाएं। दुकानों के बाहर खड़े आड़े-तिरछे वाहन व व्यापारियों के सड़क तक रखे सामानों ने यातायात व्यवस्था को बाधित कर दिया है। कुछ समय पूर्व प्रशासन ने व्यवस्था सुचारू करने के लिए सख्ती दिखाई तो उसका असर कुछ दिनों तक दिखा लेकिन फिर से व्यवस्था पुराने ढर्रे पर आ गई और समस्या जस की तस बन गई। नहीं बना स्थाई वाहन स्टैंड

नगर में आज तक स्थाई वाहन स्टैंड नहीं बनवाया गया है। वाहन चालक जहां तहां वाहनों को खड़ा कर देते हैं। नगर में जीटीआर ब्रिज, रोडवेज बस स्टैंड, वीआईपी गेट, परमार कटरा और नईसट्टी में जीटी रोड पर ही चालकों ने अस्थाई वाहन स्टैंड बना लिया है।

------------

दुकानदारों के कब्जे में फुटपाथ

नगर पालिका परिषद द्वारा जीटी रोड के किनारे इंटरलाकिग कराकर फुटपाथ बनवाया गया है ताकि पदयात्रियों को परेशानी न हो। दुकानदारों ने फुटपाथ को भी हथिया लिया है। दुकानदार अपनी दुकान के सामान को फुटपाथ पर रख देते हैं। ऐसी स्थिति में पदयात्री काली सड़क पर चलने को विवश हैं।

---------

बोले नगरवासी, जाम है मुसीबत

हरिहर गुप्ता ने कहा जाम की समस्या नगर के लिए मुसीबत बन गई है। इस समस्या से निजात दिलाने को कोई जनप्रतिनिधि आगे नहीं आया। वीर कुंवर कहते हैं नगर के जाम में एक बार फंस गए तो निकलना मुश्किल हो जाता है। सतीश चंद्रा ने कहा नगरवासी जाम की समस्या से आजिज आ चुके हैं। दोपहर में स्कूलों की छुट्टी होने के समय भी जाम लग जाता है। चंद्रिका प्रसाद ने कहा नगर में अतिक्रमण को हटवा दिया जाए तो काफी हद तक सहूलियत होगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप