जागरण संवाददाता, चंदौली : सदर कोतवाली के दिघवट गांव में विगत दिनों रिटायर्ड रेलकर्मी बीरबल मौर्य की हत्या के मामले में पुलिस ने उसके पोते उदल मौर्य को गुरुवार को नगर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को पूछताछ में हत्या के पीछे संपत्ति विवाद का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया।

दिघवट गांव निवासी सेवानिवृत्ति रेलकर्मी बीरबल मौर्य (70) का शव एक पखवारे पहले नहर की पटरी के किनारे मिला था। शरीर पर धारदार हथियार के निशान थे। पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराने के साथ ही छानबीन में जुटी थी। हत्या में मृतक के पोते की संलिप्तता सामने आई थी। इस पर पुलिस उसकी धर-पकड़ के लिए प्रयासरत थी। गुरुवार को मुखबिर की सूचना पर मुख्यालय से आरोपित को पकड़ा। पूछताछ में उसने संपत्ति के लिए दादा की हत्या स्वीकार की। बताया कि नहर किनारे टहलने गए दादा पर पीछे से धारदार हथियार से हमला कर मार दिया। कोतवाल अशोक मिश्रा ने बताया कि संपत्ति विवाद के लिए पोते ने ही दादा की हत्या की थी। उसने पूछताछ में हत्या की बात स्वीकार की है। गुड्डू चौहान हत्याकांड में दो के खिलाफ मुकदमा

जागरण संवाददाता, नियामताबाद (चंदौली) : अलीनगर थाना के काशीपुरा गांव में बुधवार को गुड्डू चौहान की हत्या के मामले मृतक के पुत्र की तहरीर पर पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एक गोली लगने की पुष्टि हुई है।

काशीपुरा निवासी गुड्डू चौहान 50 वर्ष की हत्या घर से करीब 50 मीटर दूर बने मचान पर सोते समय मंगलवार की देर रात हुई थी। घटना की जानकारी परिजनों को बुधवार की सुबह तब हुई जब मृतक की पत्नी उसे जगाने के लिए गई। बुधवार की शाम मृतक के पुत्र राजकुमार चौहान ने गांव के ही भागीरथी यादव व रिकू बिद के खिलाफ थाने में नामजद मुकदमा कराया। राजकुमार के अनुसार करीब चार माह पूर्व एक शादी समारोह में उसके पिता गुड्डू चौहान का गांव के ही रिकू बिद से विवाद हो गया था। इसके बाद भागीरथी और रिकू उन्हें मारने की धमकी दे रहे थे। प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपित जल्द गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।