जागरण संवाददाता, इलिया (चंदौली) : चुनावी रंजिश को लेकर एक पक्ष के लोगों ने पासवान जाति के एक ही परिवार के 12 लोगों को लाठी डंडों से मारपीट कर घायल कर दिया। थाना क्षेत्र के खरौझा गांव में हुए विवाद में घायलों का उपचार चकिया संयुक्त चिकित्सालय में कराया गया। मिथिलेश व अरुण कुमार की हालत गंभीर होने पर चिकित्सक ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया।

खरौझा गांव के सुदामा पासवान का परिवार मड़ई लगाकर रहता है। बरसात के मौसम को देखते हुए सुदामा पुरानी हो चुकी मड़ई की मरम्मत कर रहे थे। इसी दौरान ग्राम प्रधान राजन सिंह एवं उनके समर्थक वहां पहुंचे और मड़ई ग्राम सभा की जमीन में होने की बात कह कर विरोध करने लगे।

ग्राम प्रधान का कहना था कि मड़ई लगाने वाली जगह ग्राम समाज की है। सुदामा ने पुश्तैनी जमीन बताते हुए अपना पक्ष रखा। प्रधान की सूचना पर लेखपाल अमरेश यादव पहुंच गए। जमीन की नापी के दौरान दोनों पक्षों में नोकझोंक शुरू हो गई । इसी दौरान एक पक्ष के लोगों ने सुदामा पासवान के घर में घुसकर परिवार के 12 सदस्यों को लाठी डंडे से मारपीट कर घायल कर दिया।

मारपीट में अरुण कुमार, मिथिलेश कुमार, बलराम पासवान, प्यारी देवी, वीरेंद्र पासवान, सुदामा पासवान, रिशु, पिकी देवी, रमवन्ती, कैलाशी, संयुक्ता, संगीता घायल हो गए। सूचना मिलते ही एसडीएम अजय मिश्र, पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रीति त्रिपाठी, थानाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी, चकिया कोतवाल नागेंद्र प्रताप सिंह, शहाबगंज थानाध्यक्ष वंदना सिंह सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। घायलों को संयुक्त चिकित्सालय भेजा गया। थानाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी ने बताया कि घायल वीरेंद्र पासवान की तहरीर पर चार लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया। तनाव के मद्देनजर गांव में पुलिस व पीएसी के जवान तैनात किए गए हैं।

Edited By: Jagran