जागरण संवाददाता, चंदौली : विधानसभा चुनाव को सकुशल संपन्न कराने में संभ्रांतजन पुलिस के सहभागी बनेंगे। पुलिस गांव स्तर पर व बूथों के आसपास रहने वालों का डेटा बेस तैयार कर रही है। सूचना तंत्र को मजबूत बनाकर अपराधियों व अवांछनीय तत्वों की नकेल कसी जाएगी। इसमें तकनीकी का भी सहारा लिया जाएगा।

विधानसभा चुनाव को सकुशल संपन्न कराने व मानीटरिग के लिए पुलिस लाइन में चुनाव सेल स्थापित किया गया है। जिले में 485 हिस्ट्रीशीटर चिह्नित किए गए हैं, जिनसे चुनाव में खलल पैदा होने का खतरा है। इसको लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है। पुलिस सूचना तंत्र को मजबूत बना रही है। बूथों के आसपास रहने वाले लोगों का नाम, मोबाइल नंबर आदि इकट्ठा करने के साथ ही सी-विजिल एप्लिकेशन से संभ्रांतजन को जोड़ा जा रहा है। एप्लिकेशन चुनाव में पुलिस की आंख बनेगा। इससे जुड़े संभ्रांतजन आचार संहिता उल्लंघन की सूचना, फोटो व वीडियो तत्काल एप्लिकेशन पर अपलोड करेंगे। इसकी सूचना पुलिस व आयोग को जाएगी। वहीं उड़ाका दल की टीमें तत्काल मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करेंगी। पुलिस की नजर शातिर अपराधियों व हिस्ट्रीशीटरों पर है। थानाध्यक्षों को शातिर बदमाशों के बारे में सूचनाएं इकट्ठा करने के लिए निर्देश दिया गया है। एसपी ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया है। कोई भी व्यक्ति इस पर फोन कर अथवा वाट्सएप के जरिए सूचना भेजकर पुलिस को अलर्ट कर सकता है। विधानसभा चुनाव में तकनीकी पुलिस-प्रशासन का सबसे बड़ा सहारा बनेगी। इसके जरिए सूचनाएं प्राप्त कर कार्रवाई करना आसान होगा। इससे अपराधियों की नकेल कसेगी। एसपी अंकुर अग्रवाल ने कहा कि विधानसभा चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए पुलिस मुस्तैद है। हिस्ट्रीशीटरों व अपराधियों को सलाखों को पीछे भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

Edited By: Jagran