जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर (चंदौली) : आइजीआरएस पोर्टल पर शिकायतों के निस्तारण में की जा रही हीलाहवाली व लापरवाही पर शिकायतकर्ताओं ने बुधवार को जागरण पैनल पोर्टल प्रभारी के समक्ष भड़ास निकाली। स्थानीय नगर पालिका परिषद के सभासद कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में आरोप लगाया कि मामले को निस्तारित दिखाकर पालिका कोरमपूर्ति कर रही है। उपस्थित पोर्टल प्रभारी विमल दत्ता ने सभी समस्याओं को नोट किया और विश्वास दिलाया संबंधित विभाग द्वारा सभी का निस्तारण किया जाएगा। महमूदपुर निवासी पूर्व सभासद लल्लन प्रसाद ने वार्ड में सरकारी भूमि व देव स्थान पर अवैध अतिक्रमण की बात उठाई। वे नौ वर्षों से अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए जनपद से लगायत मुख्यमंत्री तक शिकायत कर चुके हैं। सीएम पोर्टल पर भी शिकायत की। हर बार उन्हें मामले को निस्तारित करने की सूचना मिल जाती है। कई आरटीआई भी उन्होंने लगा रखी है। एक आरटीआई में नगर पालिका के अधिकारियों ने यहां तक कह दिया कि महमूदपुर के अतिक्रमण वाला क्षेत्र उनकी सीमा परिधि में नहीं आता। लल्लन प्रसाद कहते हैं पालिका, राजस्व विभाग व पुलिस के बीच तालमेल की कमी के कारण वर्षों से अतिक्रमण नहीं हट पा रहा है।

रविनगर निवासी सुनील मित्तल आठ महीने से रविनगर की क्षतिग्रस्त सड़क को लेकर परेशान हैं। वार्डवासियों की हस्ताक्षर युक्त एक प्रार्थना पत्र उन्होंने जनवरी में ही चेयरमैन, ईओ, एसडीएम व डीएम को भी सौंपा है। इस पर भी सड़क की मरम्मत न होने के बाद उन्होंने सीएम पोर्टल पर भी इसकी शिकायत की लेकिन आठ महीने बीत गए सड़क की मरम्मत नहीं हो सकी। बताया झूठा निस्तारण लिखकर मैसेज आ जाता है। कहा पोर्टल पर शिकायत करने से अब कोई फायदा नहीं हो रहा।

शाहकुटी निवासी दानिश परवेज ने कहा वार्ड के ही उमाशंकर के साथ उन्होंने सीएम पोर्टल पर शिकायत की थी। इसमें पूरे प्रमाण के साथ यह दिखाया गया था कि वार्ड में कहां कहां अतिक्रमण किया गया है। सारे साक्ष्य देने के बाद निस्तारण का मैसेज तो आ गया लेकिन अतिक्रमण आज तक नहीं हटा। काली महाल निवासी राजीव सेठ ने बताया वार्ड में गलत ढंग से एक भवन का नामांतरण कराया गया। इसकी शिकायत सीएम पोर्टल पर की गई थी। पालिका परिषद में लिखित दिया गया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई, इससे मन बहुत निराश हुआ।

चतुर्भुजपुर निवासी संदीप कुमार गौतम ने कहा वार्ड में बहुत सारी अवैध कालोनियां विकसित की जा रही हैं। वार्ड में तमाम परेशानियां हैं। जगह जगह बड़े बड़े गड्ढे हैं, गड्ढों में पानी भरा हुआ है। पहले नगर पालिका में शिकायत की गई, कोई सुनवाई नहीं होने पर सीएम पोर्टल पर शिकायत की गई, पर आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई।

वेस्टर्न बाजार निवासी अशोक सिद्धार्थ का आरोप है उनकी दुकान के सामने फुटपाथ पर जबरन कुछ लोग दुकान लगाते हैं। जिला प्रशासन को प्रार्थना पत्र देने के बाद भी उन्हें नहीं हटाया गया। इसकी पोर्टल पर भी शिकायत की गई लेकिन कोई फायदा नहीं। महमूदपुर निवासी भरत अग्रवाल, सुधीर जायसवाल ने भी महमूदपुर में अवैध अतिक्रमण का मामला उठाया और कहा सीएम पोर्टल पर कई शिकायतें की गई हैं लेकिन पालिका के अधिकारी न जाने क्यों, इस मामले को उलझा रहे हैं। संबंधित विभागों से कराया जाएगा निस्तारण

पोर्टल प्रभारी विमल दत्ता ने शिकायतकर्ताओं का जवाब देते हुए कहा इस महीने 139 शिकायत पोर्टल से मिली जिसमें 125 का निस्तारण कर दिया गया, 13 लंबित हैं। लंबित सभी मामले निर्माण से जुड़े हैं। निर्माण विभाग को दे दिया गया। जेई जांच के बाद आख्या देंगे, तब उसका निस्तारण कराया जाएगा। बताया जागरण पैनल में जिन लोगों ने समस्याओं को उठाया है, उनकी समस्याएं नोट कर ली गई हैं। निर्माण और अतिक्रमण सबंधी समस्याओं को चेयरमैन व अधिशासी अधिकारी को इससे अवगत कराकर जल्द निस्तारण करा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran