जागरण संवाददाता, चंदौली : विधान परिषद सदस्य केदारनाथ सिंह बुधवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले। उन्होंने चंदौली के किसानों की समस्या से उन्हें अवगत कराया। धान खरीद में सुस्ती और बारिश से फसल बर्बादी का मुद्दा उठाया। सीएम ने कृषि मंत्री से बात कर समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए।

एमएलसी ने कहा चंदौली को धान का कटोरा कहा जाता है। प्रदेश में सर्वाधिक धान उत्पादन करने वाले जिलों में चंदौली शुमार है। जिले में 1.83 लाख मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य रखा गया है, लेकिन अभी तक काफी कम अनाज की खरीद हुई है। 16 दिसंबर तक मात्र 19 हजार मीट्रिक टन ही धान की खरीद की गई थी। एफसीआइ, यूपी एग्रो, कर्मचारी कल्याण निगम समेत अन्य एजेंसियों की खरीद काफी धीमी है। ग्रामीण क्षेत्रों में क्रय केंद्र नहीं खुले हैं। ऐसे में किसानों को उपज बिचौलियों के हाथों बेचनी पड़ रही है। कहा हार्वेस्टर से धान की कटाई रोक दी गई। बेमौसम बरसात से किसानों को काफी क्षति हुई है। किसानों का धान खेत व खलिहान में सड़ रहा है। ऐसे में धान खरीद में तेजी आनी चाहिए। वहीं जिले को आपदाग्रस्त घोषित किया जाए, ताकि किसानों को फसल नुकसान की क्षतिपूर्ति मिल सके। मुख्यमंत्री ने तत्काल कृषि मंत्री को बुलाकर समस्याओं के निस्तारण को निर्देशित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस