जागरण संवाददाता, चंदौली : कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की बैठक बुधवार को हुई। इसमें कोरोना टीकाकरण को लेकर चर्चा की गई। टीकाकरण की खराब स्थिति पर डीएम ने चिता व्यक्त की। उन्होंने इसके लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चयनित जिले के तीन ब्लाकों में क्लस्टरवाइज माइक्रो प्लान बनाने व मोबिलाइजेशन टीम गठित करने का निर्देश दिया। ग्रामीणों को जागरूक कर टीकाकरण कराने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक राजस्व गांव में ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा, आंगनवाड़ी वर्कर व प्राथमिक शिक्षक, पंचायत सचिव, युवक मंगल दल व कोटेदारों को शामिल करते हुए मोबिलाइजेशन टीम गठित की जाए। टीम को प्रत्येक ग्रामीण को जागरूक कर उसका टीकाकरण कराने की जिम्मेदारी सौंपी जाए। जुलाई माह में टीकाकरण के कार्यक्रम को 'स्केल अप'''' करने हेतु जनपद के धानापुर, नौगढ़ व नियामताबाद ब्लाक को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चयनित किया गया है। इन ब्लाकों में क्लस्टरवार तिथियों का निर्धारण कर टीकाकरण किया जाना है। प्रत्येक ब्लाक में चार कलस्टर बनाए जाएंगे। प्रथम कलस्टर में 17 से 19 जून तक जागरुकता व प्रचार-प्रसार चलेगा। इसके बाद 21 से 22 जून तक टीकाकरण किया जाएगा। इसी प्रकार द्वितीय कलस्टर में 19 से 22 जून तक जागरूकता एवं प्रचार-प्रसार के पश्चात 23 व 24 जून को टीकाकरण, क्लस्टर तीन में 22 से 24 जून तक प्रचार-प्रसार के पश्चात 25 से 26 जून तक टीकाकरण, क्लस्टर चार में 24 से 26 जून तक जागरूकता एवं प्रचार- प्रसार के पश्चात 28 से 30 जून तक टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। अभियान के अंतर्गत 18 वर्ष के ऊपर सभी नागरिकों को आन द स्पाट रजिस्ट्रेशन कराकर टीकाकरण कराया जाएगा। कहा, इसके लिए सटीक रणनीति बनाने की जरूरत है। अभियान में मोबिलाइजेशन टीम का कार्य सबसे महत्वपूर्ण है। इनकी सक्रियता से ही अधिक से अधिक लोग वैक्सीनेशन कराएंगे। मोबिलाइजेशन टीमें लोगों में वैक्सीनेशन के प्रति नकारात्मक अफवाहों व भ्रांतियों को दूर करें। उनको वैक्सीन की अच्छाइयों एवं फायदों के विषय में बताएं। इसके लिए वैक्सीनेटरों की टीम बना लें। वहीं रिजर्ब में भी टीमों को रखा जाए। मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट आरआर राम्या, सीएमओ डाक्टर वीपी द्विवेदी, डीडीओ पदमकांत शुक्ला, एसीएमओ डाक्टर डीके सिंह मौजूद थे।

Edited By: Jagran