जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर (चंदौली) : कोतवाली क्षेत्र के रौना गांव में शनिवार की सुबह खाना बनाते समय रसोई गैस सिलेंडर में लीकेज से आग लग गई। चपेट में आने से मां, बेटा सहित तीन लोग आंशिक रूप से झुलस गए। चीख पुकार सुनकर परिजन व पड़ोसी मौके पर पहुंच गए और मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। झुलसी महिला व युवकों का इलाज निजी चिकित्सालय में कराया गया।

रौना निवासी मोहनी देवी (48) घर के आंगन में खाना बना रही थीं। पितृपक्ष मेले में शामिल होने के लिए परिजन गया जाने की तैयारी कर रहे थे। खाना बनाते समय अचानक सिलेंडर में लगे पाइप से गैस का रिसाव होने लगा। इस कारण सिलेंडर में आग लग गई। आग की लपटें इतनी तेज थी कि पूरे आंगन में फैलने लगी। इसमें मोहनी आंशिक रूप से झुलस गईं। उनकी आवाज सुनकर बेटा मंगलेश (30) व उनके बड़े पिता का पुत्र संतोष (37) आग बुझाने के लिए मौके पर पहुंचे। इस प्रयास में दोनों आंशिक रूप से झुलस गए। शोरगुल सुनकर काफी संख्या में पड़ोसी मौके पर पहुंच गए। सभी ने मिलकर तकरीबन आधे घंटे तक प्रयास किया और आग पर काबू पाया। झुलसे लोगों को निजी चिकित्सालय ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने छुट्टी दे दी। घटना के परिजन सहम गए। किसी बड़ी अनहोनी की कल्पना मात्र से सभी सिहर जा रहे थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप