बुलंदशहर, जेएनएन। एकेपी पीजी कालेज द्वारा मंगलवार को मिशन शक्ति तृतीय चरण के अंतर्गत कुष्ठ आश्रम में चुप्पी तोड़ो कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें महिलाओं को मासिक धर्म के विषय में जानकारी दी गई।

एकेपी पीजी कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई तथा नई शिक्षा नीति के तहत गठित दिव्यांग सहायता वंचित समूह प्रकोष्ठ सिटी स्टेशन स्थित कुष्ठ आश्रम पर पहुंचा। जहां पर उनके द्वारा चुप्पी तोड़ो कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मिशन शक्ति कार्यक्रम संयोजिका एकता चौहान ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य समाज की वंचित महिलाओं व बेटियों तक पहुंचना है, जो समाज की मुख्यधारा से अलग हैं। इस दौरान महाविद्यालय की प्राचार्या डा. वीना माथुर ने कुष्ठ आश्रम में रहने वाली महिलाओं को समझाया कि मासिक धर्म से संबंधित भ्रांतियों को दूर करना आवश्यक है। क्योंकि मासिक धर्म मातृत्व की पहचान है। इसके अलावा डा. रेखा चौधरी, डा. अनामिका द्विवेदी, गीता सिंह, डा. साहिल आदि ने भी अपने विचार रखे। साथ ही महिलाओं को सैनेटरी पैड वितरित किए गए। रेनू, पायल, राखी, अंकिता, शालू, तनु, कुमकुम, लक्ष्मी, योगिता, भारती, पूनम, नेहा आदि रहे।

दंपती ने खाया जहर

हायर सेंटर रेफर

संवाद सहयोगी, गुलावठी : नगर निवासी पति व पत्नी ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। दोनों को गंभीर हालत में हायर मेडिकल सेंटर रेफर किया गया है।

मोहल्ला रामनगर धौलाना रोड निवासी विकास (23) व उसकी पत्नी रिकी (21) ने मंगलवार को जहरीला पदार्थ खाकर जान देने की कोशिश की। स्वजनों और पड़ोस के लोग दोनों को अस्पताल ले गये। पुलिस ने भी लोगों से घटना की जानकारी ली।

कोतवाल जितेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि निजी कारणों के चलते पति व पत्नी के जहरीला पदार्थ खाने का मामला सामने आया है। इसकी गहन जांच की जा रही है।

Edited By: Jagran