जेएनएन, बुलंदशहर : किसानों के खून-पसीने से कमाई गई गेहूं की फसल पर केंद्र प्रभारी डाका मार रहे हैं। प्लास्टिक और जूट के बोरों में गेहूं तौल के अलग-अलग मापक हैं लेकिन केंद्र प्रभारी किसानों को नियमों का पाठ पढाकर प्रत्येक बोरों में 500 से 700 ग्राम गेहूं अधिक तौल रहे हैं। इसका खुलासा जिला विपणन अधिकारी के निरीक्षण में हुआ है। जहांगीराबाद मंडी स्थित पीसीएफ के केंद्र पर रखे 10 बोरों का गेहूं की तौल कराई गई। अधिकांश में अधिक गेहूं मिला। जिला विपणन अधिकारी ने कार्रवाई की संस्तुति की है।

राज्य सरकार के गेहूं खरीद योजना के अंतर्गत मात्र दो ही प्रकार के बोरों में गेहूं तौल की जाती है। प्लास्टिक के बोरों में 50.150 किलो ग्राम तक गेहूं की तौल की जा सकती है। जबकि जूट के बोरों में 50.600 किलो ग्राम तक की तौल की जा सकती है। एक शिकायत पर जिला विपणन अधिकारी जेया करीम अहमद ने जहांगीराबाद मंडी स्थित पीसीएफ क्रय केंद्र पर छापेमारी की। मौके पर केंद्र प्रभारी आंकिक सुवेंद्र कुमार मौजूद मिले। क्रय केंद्रों पर रखे हजारों बोरों में से 10 बोरों की दोबारा से तौल कराई गई। प्लास्टिक के बोरों में 50.150 किलोग्राम की बजाए 50.600 से 50.800 किलो ग्राम तक तौल पाई गई। जिला विपणन अधिकारी ने केंद्र प्रभारी को कारण बताओ नोटिस भेजकर जिलाधिकारी रविद्र कुमार, संभागीय खाद्य नियंत्रक मेरठ संभाग, एसडीएम, सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहकारिता और जिला प्रबंधक पीसीएफ को पत्र लिखकर कार्रवाई की संस्तुति की है।

...

इन्होंने कहा..

जहांगीराबाद के साथ-साथ अन्य क्रय केंद्रों पर भी अधिक तौल की शिकायत मिल रही हैं। जहांगीराबाद केंद्र प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति को पत्र लिखा गया है। प्लास्टिक के बोरो में अधिकतम 50.150 ग्राम और जूट के बोरों में 50.600 गेहूं तौल की जा सकती है।

-जेया करीम अहमद

जिला विपणन अधिकारी।

गेहूं का उठान नहीं होने से बढ़ रही परेशानी

संवाद सूत्र, छतारी : क्रय केंद्र से गेहूं का उठान नहीं होने के कारण तोल का कार्य प्रभावित हो रहा है और किसान भी परेशान है। जिसको लेकर किसानों ने अधिकारियों से गेहूं का उठान कराने की मांग की है।

क्षेत्र के गांव शेखूपुर में सहकारी समिति में का गेहूं क्रय केंद्र लगा है। जिस पर क्षेत्र के दर्जनों किसानों के सैकड़ों कुंतल गेहूं की खरीद हो चुकी है। जिसके चलते क्रय केंद्र स्थल बोरो से भर गया है। क्रय केंद्र पर खाली स्थान नहीं होने के कारण गांव सहित आसपास के गांव अल्लीपुर, बिरौरा, हुसैनपुर के किसानों के गेहूं की तोल नहीं हो रही है। ऐसे में किसान परेशान हैं। उनका कहना है कि अगर क्रय केंद्र से गेहूं का उठान हो जाए, तो खरीद का कार्य तेजी पकड़ेगा। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से गेहूं का उठान शीघ्र कराने की मांग की है। इसमें देवेंद्र, किशनलाल, चंद्रभान, चंद्रपाल, कालू, वनी सिंह आदि रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप