बुलंदशहर, जेएनएन। खुर्जा में शातिरों ने प्राइवेट कंपनी में मैनेजर के पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर युवक से करीब 80 हजार रुपये ठग लिए। रुपये लेने के बाद से ही आरोपित फरार है। मामले में पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की है।

खुर्जा के जंक्शन मार्ग निवासी संदीप कुमार ने बताया कि उसने एमबीए किया हुआ है। बीते 27 नवंबर को उसकी मुलाकत नगर निवासी दो व्यक्तियों से हुई थी। जिन्होंने एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर पद की जगह खाली होने की बात कहते हुए उसकी नौकरी लगवाने का आश्वासन देकर झांसे में ले लिया। पीड़ित के अनुसार उन्होंने 50 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन होने की बात कही थी। उसकी एवज में एक लाख की मांग की।

शातिरों के झांसे में आकर दिसंबर माह में पीड़ित ने उन्हें एक बार 50 हजार और दूसरी बार 30 हजार रुपये दिए। जिसके बाद एक जनवरी को नोएडा की एक कंपनी का पता देकर युवक को वहां भेज दिया। वहां पर एक युवक का नाम बताकर उससे मिलने की बात कही। कंपनी पहुंचने के बाद पीड़ित को जानकारी मिली कि वहां कोई उस नाम का युवक नौकरी नहीं करता है। पीड़ित ने दोनों शातिरों के मोबाइल पर फोन किया, लेकिन उनका नंबर बंद आ रहा है। दोनों शातिर नगर से भी फरार है। शनिवार सुबह पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की है। पुलिस ने जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कही है। चिरचिटा में दबिश देने की हिम्मत नहीं जुटा रही पुलिस

बुलंदशहर : सलेमपुर थाना क्षेत्र के गांव चिरचिटा में पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी को हिम्मत नहीं जुटा पा रही है। ऐसे में पुलिस टीम पर हमला करने वाले 72 घंटे बाद भी गिरफ्त से बाहर हैं।

बुधवार दोपहर को थाना सलेमपुर पुलिस को सूचना मिली थी कि क्षेत्र के गांव चिरचिटा निवासी जिला बदर अपराधी सलमान गांव में ही मौजूद है। सूचना पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो आरोपी सलमान अपने अन्य साथियों के साथ खड़ा था। पुलिस ने जब उसे पकड़ने की कोशिश की तो पांचों नामजद आरोपितों ने फायरिग शुरू कर दी। लेकिन, पुलिस टीम ने आरोपित को घेराबंदी कर दबोच लिया। जबकि उसके साथी भाग निकले।

इसी दौरान आरोपित के स्वजन व अन्य ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और आरोपितों ने पुलिस टीम पर जमकर पथराव कर दिया, साथ ही टीम के साथ हाथापाई भी की गई। जिसमें थाना प्रभारी सोमनाथ राय और दो सिपाही चोटिल हो गए थे। थाना प्रभारी के आदेश पर आरोपित सलमान, इमरान, आशिक, आरिफ, अफजाल समेत आठ से 10 अज्ञात महिलाएं और अन्य अज्ञात युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई थी। लेकिन, चार नामजद आरोपित इमरान, आशिक, आरिफ और अफजाल समेत अन्य अज्ञात आरोपित अभी भी पुलिस की पकड़ से दूरे हैं।

...

इन्होंने कहा..

आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। लगातार दबिश दी जा रही है, जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

- बजरंग बली चौरसिया, एसपी देहात

Edited By: Jagran