जेएनएन, बुलंदशहर। शूर वीरों की भूमि बुलंदशहर में एक सूबेदार ऐसे भी हैं जो देश की तीनों सेनाओं के जवानों को स्वर्ण पदक के लिए तरास रहे हैं। शिकारपुर के गांव महमूदपुर निवासी पवन बरगोती तीनों सेना के बाडी बिल्डिग जवानों के मुख्य कोच हैं। इनके द्वारा तैयार किए गए बाडी बिल्डर अब तक विभिन्न प्रतियोगिताओं में देश को आठ से अधिक स्वर्ण पदक दिला चुके हैं।

जिले की शिकारपुर तहसील के गांव महमूदपुर निवासी त्रिलोक सिंह के होनहार बेटे पवन कुमार बरगोती 1997 में बच्चा खेल पार्टी में भर्ती हुए थे। बचपन से ही बाजार में बाडी बिल्डरों की तस्वीर देख और 1998 में टीवी पर मिस्टर इंडिया को देख कर पता चला कि बाडी बिल्डिग खेल होता है। 2001 में वह सेना में भर्ती हो गए। 2013 बाडी बिल्डिग में सूबेदार पवन ने मिस्टर इंडिया का खिताब जीता था। तीनों सेना के बाडी बिल्डिग के मुख्य कोच के सेवानिवृत्त होने पर 2018 में सेना ने मुख्य कोच की जिम्मेदारी पवन कुमार बरगोती को सौंपी थी। सूबेदार ने देश के लिए सेना के जवानों को ऐसा तराशना शुरू किया कि सेना के खिलाड़ियों की बाडी बिल्डिग अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में कतार लगा दी है। सबसे बड़ी बात यह है कि उनके द्वारा तराशे गए जवानों ने एक-दो नहीं बल्कि आठ स्वर्ण पदक देश को दिलाएं हैं। सूबेदार भारतीय टीम की चयन कमेटी में सदस्य भी रहे चुके हैं।

..

देश को यह दिए खिलाड़ी

अनुज तालियान, दयानंदा सिंह, एम रामामूर्थि सरीखे, अुर्जन साहू कई मिस्टर इंडिया, कई मिस्टर इंडिया व मिस्टर व‌र्ल्ड जैसे खिताब हासिल करने वाले खिलाड़ी दिए हैं।

..

भारतीय कोचिग इतिहास में जोड़ रहे नए अध्याय

2019 में साउथ कोरिया में आयोजित हुई व‌र्ल्ड बाडी बिल्डिग प्रतियोगिता में देश की ओर से प्रतिनिधित्व करने वाले 12 खिलाड़ियों में से पांच खिलाड़ी सेना से चयनित करा कर सबको अचंभित कर दिया था।

..

व‌र्ल्ड बाडी बिल्डिग प्रतियोगिता 2021 में जीता स्वर्ण पदक

उज्बेकिस्तान में एक से सात अक्टूबर तक आयोजित हुई वल्ड्र बाडी बिल्डिग प्रतियोगिता में उनके शिष्य अर्जुन साहू ने देश को स्वर्ण पदक दिलाया है।

..

बोले सूबेदार

मुझे मुख्य कोच की जिम्मेदारी मिलने के बाद सेना ने देश को 25 अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी दिए हैं। जिनमें से आठ स्वर्ण पदक व दो रजत व एक कांस्य पदक जीत कर देश का नाम रोशन कर चुके हैं।

- सूबेदार पवन कुमार बरगोती, मुख्य कोच सेना

Edited By: Jagran