बुलंदशहर, जेएनएन। नकली डीएपी का कारोबार जिले में रही बल्कि आसपास के जिलों में भी फैला है। पकड़े गए आरोपितों ने हापुड़, बुलंदशहर और अलीगढ़ सहित सात गोदामों की लोकेशन स्वाट टीम को दी है। टीम गठित कर सभी जगहों पर पुलिस द्वारा दबिश दी जा रही है। आरोपितों ने करीब पचास हजार किसानों को नकली डीएपी की बिक्री अभी तक की है।

स्याना रोड स्थित एक मकान में जैविक खाद और कैल्शियम को मिक्स करके नामचीन उर्वरक कंपनियों के खाली बोरों में भरकर डीएपी बताकर बेचने का राजफाश हुआ है। स्वाट टीम द्वारा की गई पूछताछ में पकड़े गए आरोपितों अवधेश कुमार और अशोक गोयल ने कई राजफाश किए हैं। स्वाट टीम प्रभारी सुधीर कुमार त्यागी ने बताया कि आरोपितों ने अलीगढ, हापुड़ और बुलंदशहर स्थित कई गोदामों की लोकेशन बताई है, जहां ये खुद नकली डीएपी बनाकर बेचते थे और अलग-अलग स्थानों पर इनके साथियों ने गोदाम भी बना रखे हैं। उन्होंने बताया कि कृषि विभाग के साथ-साथ बाहरी जनपदों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। पूछताछ में सामने आया कि आरोपितों ने तीनों जनपदों के करीब पचास हजार किसानों को नकली डीएपी की बिक्री कर बड़े स्तर पर काली कमाई की है। सावधान, यहां बिक रही नकली डीएपी

आरोपितों के अनुसार जनपद में अरनिया, पहासू, शिकारपुर और अहमदगढ़ में नकली डीएपी बनाकर बेचने के गोदाम बने हैं। क्षेत्र के किसानों को मांग के अनुसार बाजार से 50 रुपये कम दर पर नकली डीएपी बेची जा रही है। वहीं, अलीगढ में खैर और कशीशों गांव में इन्होंने गोदाम होने की बात कही है। अलीगढ़ में करतूतों का वीडियो वायरल

दरअसल, कल से एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसे अलीगढ़ के खैर क्षेत्र का बताया जा रहा है। इसमें नामचीन कंपनियों के बोरों में नकली डीएपी भरी है और गोदाम में मौजूद एक सेल्समैन से कृषि अधिकारी द्वारा लाइसेंस दिखाने के नाम चुप्पी साधने की बात कही गई है। वीडियो में इस गोदाम में नकली डीएपी के 140 बोरे पकड़ने की बात कही गई है। इन्होंने कहा..

आरोपितों ने जैविक खाद और कैल्शियम मिलाकर नकली डीएपी बेचने की बात स्वीकार की है। साथ ही बुलंदशहर में चार, अलीगढ़ में तीन और हापुड़ में भी अपने गोदाम होने की बात स्वीकार की है। टीम छापेमारी में जुटी है, जल्द गिरोह के अन्य लोग भी पकड़ में होंगे।

-सुधीर कुमार त्यागी, स्वाट टीम प्रभारी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस