बुलंदशहर, जेएनएन। कोतवाली देहात की नई मंडी क्षेत्र के गांव सराय छबीला में पैमाइश करने पहुंचे लेखपाल एवं अन्य कर्मचारियों के साथ ग्रामीणों ने अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि ग्रामीणों द्वारा उपजाऊ जमीन के रास्ते एवं श्मशान की जमीन पर कब्जा किया गया था, जिसकी पैमाइश के दौरान हंगामा किया गया। देहात पुलिस ने लेखपाल की तहरीर पर दो मामले दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

तहसील सदर के लेखपाल रामप्रसाद शर्मा ने कोतवाली देहात में तहरीर देकर बताया कि बीते दिन गांव सराय छबीला में उपजाऊ जमीन के रास्ते की पैमाइश करने गए थे। पैमाइश के दौरान कुछ ग्रामीणों द्वारा रास्ते पर कब्जा किए जाने का पता चला। उसी दौरान आरोपित ग्रामीणों द्वारा सरकारी कार्य में बाधा डालते हुए गाली-गलौज की गई। लेखपाल एवं अन्य कर्मचारियों को जान से मारने की धमकी दी गई। तहरीर के आधार पर देहात पुलिस ने आरोपित अमीचंद पुत्र मोमराज, महेंद्र पुत्र मोमराज, गुलाब सिंह पुत्र मोमराज, मोमराज पुत्र खेराती, गोविदा पुत्र अमीचंद एवं रितु पुत्र अमीचंद निवासी रासय छबीला के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। वहीं, दूसरी तहरीर में लेखपाल रामप्रसाद शर्मा ने बताया गया है कि ग्रामीण राजेंद्र सिंह पुत्र नौबत सिंह एवं राकेश सिंह पुत्र नौबत सिंह द्वारा श्मशान की जमीन पर कब्जा कर उसे जोत-बोकर प्रयोग किया जा रहा था। पैमाइश करने के दौरान आरोपितों द्वारा सरकारी कार्य में बाधा डालते हुए गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी गई। देहात पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। कोतवाली देहात प्रभारी अरुणा राय ने बताया कि जांच कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran