बुलंदशहर, जेएनएन: दीपावली के बाद जहरीली हुई हवा से बुलंदशहरवासियों का पीछा नहीं छोड़ रही है। चार दिन की राहत के बाद हवा में प्रदूषण एक बार फिर बढ़ गया है। मंगलवार को भी फिर एक्यूआइ (एयर क्वालिटी इंडेक्स) बढ़कर 360 पर आ गया है।

पटाखों और पराली के धुएं के बाद से हवा में प्रदूषण बढ़ना शुरू हुआ और 30 अक्टूबर को एक्यूआइ 416 और दो नवंबर को बढ़कर 477 तक एक्यूआइ पहुंचा गया। इसके बाद धूप खिली और हवा चली। साथ ही बूंदाबांदी भी हुई तो हवा साफ होनी शुरू हुई, और एक्यूआइ गिरकर सात नवंबर को 207 पर आ गया। आठ नवंबर से एक्यूआइ फिर से बढ़ना शुरू हुआ और 12 नवंबर को 360 तक पहुंच गया। 360 एक्यूआइ प्रदूषण का सेहत के लिए खतरनाक स्तर है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी अगले तीन दिन तक प्रदूषण का स्तर अभी और बढ़ने की संभावना जता रहे हैं। प्रदूषण बढ़ने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी प्रदूषण फैलने वाली भट्ठी, फैक्ट्री, कोल्हू और कूड़ा जलाने वालों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

बढ़ने लगे मरीज

प्रदूषण के चलते बीमार, बच्चे और बुजुर्गों की दिक्कतें फिर बढ़नी शुरू हो गई हैं। सोमवार और मंगलवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में फिर से प्रदूषण के शिकार मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। चिकित्सकों के मुताबिक सांस लेने में दिक्कत और गले के इंफेक्शन और आंखों में जलन के मरीज तीन-तीन सौ अधिक पहुंचे हैं। जिला अस्पताल के फिजीशियन डा. चंद्रप्रकाश का कहना है कि प्रदूषण के कारण ही दिक्कतें बढ़ रही हैं।

भट्ठी छोड़ रही धुआं, जल रहा कूड़ा

प्रदूषण बढ़ने के बाद शहर के मोहल्ला देवीपुरा प्रथम में रेवड़ी, गजक व हलवाई की दुकानों पर दिन निकलते ही लकड़ी के कोयले की भट्ठी धधकने लगती हैं और दिनभर भयानक धुआं छोड़ती हैं। इससे मोहल्ले के लोगों का दम घुटने लगता है। उधर नुमाइश मैदान में एनजीटी की रोक के बाद भी कूड़ा बेरोकटोक जल रहा है।

ऐसे बढ़ा एक्यूआइ

08 नवंबर- 207

09 नवंबर- 267

10 नवंबर-302

11 नवंबर-340

12 नवंबर- 360

इन्होंने कहा..

मौसम में नमी के कारण प्रदूषण दोबारा बढ़ना शुरू हुआ है। अगले तीन दिन आसमान में बादल आएंगे तो मौसम में नमी बढ़ेगी और प्रदूषण का स्तर बढ़ेगा। तेज हवा चले या बारिश होने से हवा शुद्ध हो सकती है। प्रदूषण फैलाने वालों पर कार्रवाई जारी है।

- जीएस श्रीवास्तव, क्षेत्रीय अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप